नई दिल्ली. कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों ने आज निकाले जाने वाली अपनी ट्रैक्‍टर परेड (Kisan Tractor Parade) की रूपरेखा तय कर ली है. बड़ी और खास बात यह है कि किसानों ने इस रैली को तीन नहीं, बल्कि 9 रूटों पर निकालने का फैसला लिया है. इसमें बड़ी संख्‍या में ट्रैक्‍टर शामिल होंगे, जिनकी संख्‍या करीब डेढ़ लाख से ज्‍यादा होगी. केवल यही नहीं, किसानों ने कहा है कि यह परेड दो दिन (26-27 दिसंबर) तक चलेगी. उनका कहना है कि जब तक आखिरी ट्रैक्‍टर वापस नहीं आ जाता, परेड चलती रहेगी.

परेड में शामिल होने वाले किसानों से संयुक्‍त किसान मोर्चा ने अपील की है कि परेड पूरी होने के बाद कोई भी वापस अपने घर नहीं जाएगा. साथ ही मोर्चे की तरफ से एक मिस्‍ड कॉल नंबर 8448385556 और एक हेल्‍पलाइन नंबर 7428384230 जारी किया है.

9 बजे के बाद से परेड अलग-अलग प्‍वांइट्स से शुरू हो जाएगी
किसान नेताओं ने स्‍पष्‍ट किया कि आज सुबह 8 बजे बड़े नेता मंच पर आ जाएंगे और उसके बाद तकरीबन 9 बजे से यह किसान ट्रैक्‍टर परेड अलग-अलग प्‍वांइट्स से शुरू हो जाएगी और जब तक आखिरी ट्रैक्‍टर वापस नहीं आ जाता यह रैली चलती रहेगी.3 नहीं, इन 9 रूटों पर निकाली जाएगी किसान गणतंत्र परेड
किसान नेता योगेंद्र यादव ने बताया कि 26 जनवरी को किसान गणतंत्र परेड तीन जगहों पर नहीं, बल्कि नौ जगहों पर निकाली जाएगी. यह सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, गाजीपुर बॉर्डर, चिल्‍ला बॉर्डर के साथ ही ढांसा बॉर्डर, शाहजहांपुर, मसानी बराज, पलवल से बदरपुर, नूंह के सुणैना बॉर्डर पर परेड निकाली जाएगी. उनके अनुसार, इनमें कम से कम 20 से 25 राज्‍यों की झांकी निकाली जाएगी. उन्‍होंने कहा कि यह रैली पूरी तरह से शांतिपूर्वक निकाली जाएगी और इससे देश के गणतंत्र की इज्‍जत बढ़ेगी, घटेगी नहीं.

डेढ़ लाख से ज्‍यादा ट्रैक्‍टर और बड़े पैमाने पर यूथ शामिल होगा
किसान नेता दर्शनपाल सिंह ने स्‍पष्‍ट किया कि यह मार्च पूरी तरह से शांतिपूर्ण होगा और इसमें कोई हुड़दंग नहीं होगा. उन्‍होंने बताया कि आज देश के बाकी हिस्‍सों में, शहरों में भी परेड बड़े पैमाने निकाली जाएगी. आज की किसान गणतंत्र परेड में डेढ़ लाख से ज्‍यादा ट्रैक्‍टर शामिल होंगे, जिसमें बड़े पैमाने पर यूथ शामिल होगा. उन्‍होंने यह भी कहा कि इसके बाद हम पैदल बिना किसी संसाधनों के 1 फरवरी को संसद की तरफ कूच करेंगे.

परेड के बाद कोई किसान वापस घर नहीं जाएगा

वहीं, किसान नेता बलबीर राजेवाल ने कहा कि इस आंदोलन की खासियत ये रही है कि यह हमेशा शांतिपूर्ण  रहा है और आगे भी शांतिपूर्ण ही रहेगा. उन्‍होंने अपील करते हुए कहा कि कोई भी किसान वापस घर नहीं जाएंंगे. उनके यहां रहने, खाने की पूरी तैयारियां कर दी जाएंगी.

कुछ ऐसी हैं तैयारियां
वहीं, किसान ट्रैक्‍टर रैली की पूरी व्‍यवस्‍था देख रहे किसान नेता जगमोहन सिंह ने न्‍यूज18 हिंदी (ड‍िजिटल) से कहा कि आज बड़े पैमाने पर लोगों को मैनेंजमेंट में लगाया गया है.
-6 से 7 कमेटियां बनाई गई हैं जो यह तय और व्‍यवस्थित करेंगी कि लंगर कहां-कहां देना है.
-प्रेस के लिए भी 9 कमेटियां बनाई गई हैं और सभी जगहों पर एक-एक व्‍यक्ति इसका नेतृत्‍व करेगा.
-परेड में सभी जगह से आगे लीडरशिप चलेगी, फ‍ि‍र बीच-बीच में लीडरशिप होगी.
-अनाउंसमेंट के लिए गाडि़यां चलेंगी.
-पानी का अरेंजमेंट के लिए जगह-जगह प्‍वाइंट बनाए गए हैं.
-कम से कम 100 एंबुलेंस होंगी किसानों की तरफ से
-ट्रैक्‍टर रिपेयर की व्‍यवस्‍था होगी
-डीजल का अरेंजमेंट रहेगा

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here