ख़बर सुनें

शाहगंज के मिन्हाजपुर में एक दिन पहले हुए विवाद के बाद नाराज होकर युवती ने जान देने की कोशिश की। उसने घर में रखा हुआ फिनायल पी लिया जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। सूचना पर पहुंचे परिजन उसे एसआरएन अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया। परिजनों की ओर से शाहगंज थाने में तहरीर देकर पड़ोसियों पर उकसाने का आरोप लगाया गया है। पुलिस देर रात तक जांच पड़ताल में जुटी रही। 

मिन्हाजपुर में रहने वाला एक व्यक्ति बिल्डिंग बनाने का काम करता है। उसकी 20 वर्षीय एक बेटी है। पिछले कुछ दिनों से युवती का अपने पड़ोसियों से मनमुटाव चल रहा था। जिसे लेकर शनिवार को पड़ोसी युवती से कहासुनी हुई और फिर मारपीट हो गई। मोहल्लेवालों ने बीचबचाव कर मामला शांत करा दिया। रविवार सुबह मां-बाप किसी काम से बाहर चले गए जबकि उनकी बेटी अकेली थी।

आरोप है कि इसी दौरान पड़ोस के कुछ लोग पहुंचे और एक दिन पहले हुए झगड़े को लेकर उसे डांट दिया। इसके बाद अचानक युवती ने भीतर जाकर कमरा बंद कर लिया और घर में रखा फिनायल पी लिया। सूचना पर पहुंचे परिजन किसी तरह घर में दाखिल हुए तो बेटी को जमीन पर पड़ा देख उनके होश उड़ गए। आननफानन में उसे एसआरएन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया।

शाम को परिजनों की ओर से तहरीर देकर पड़ोसियों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया। हालांकि शाहगंज पुलिस का कहना है कि परिजन थाने नहीं आए बल्कि कोई अन्य व्यक्ति तहरीर लेकर आया था। रिपोर्ट दर्ज करने से पहले इस बात की जांच जरूरी है कि तहरीर उनकी ओर से ही भेजवाई गई है या नहीं। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शाहगंज के मिन्हाजपुर में एक दिन पहले हुए विवाद के बाद नाराज होकर युवती ने जान देने की कोशिश की। उसने घर में रखा हुआ फिनायल पी लिया जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। सूचना पर पहुंचे परिजन उसे एसआरएन अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया। परिजनों की ओर से शाहगंज थाने में तहरीर देकर पड़ोसियों पर उकसाने का आरोप लगाया गया है। पुलिस देर रात तक जांच पड़ताल में जुटी रही। 

मिन्हाजपुर में रहने वाला एक व्यक्ति बिल्डिंग बनाने का काम करता है। उसकी 20 वर्षीय एक बेटी है। पिछले कुछ दिनों से युवती का अपने पड़ोसियों से मनमुटाव चल रहा था। जिसे लेकर शनिवार को पड़ोसी युवती से कहासुनी हुई और फिर मारपीट हो गई। मोहल्लेवालों ने बीचबचाव कर मामला शांत करा दिया। रविवार सुबह मां-बाप किसी काम से बाहर चले गए जबकि उनकी बेटी अकेली थी।

आरोप है कि इसी दौरान पड़ोस के कुछ लोग पहुंचे और एक दिन पहले हुए झगड़े को लेकर उसे डांट दिया। इसके बाद अचानक युवती ने भीतर जाकर कमरा बंद कर लिया और घर में रखा फिनायल पी लिया। सूचना पर पहुंचे परिजन किसी तरह घर में दाखिल हुए तो बेटी को जमीन पर पड़ा देख उनके होश उड़ गए। आननफानन में उसे एसआरएन अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे भर्ती कर लिया।

शाम को परिजनों की ओर से तहरीर देकर पड़ोसियों पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया गया। हालांकि शाहगंज पुलिस का कहना है कि परिजन थाने नहीं आए बल्कि कोई अन्य व्यक्ति तहरीर लेकर आया था। रिपोर्ट दर्ज करने से पहले इस बात की जांच जरूरी है कि तहरीर उनकी ओर से ही भेजवाई गई है या नहीं। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here