ख़बर सुनें

विकलांग सहायता संस्था मथुरा की आगरा शाखा एवं अमर उजाला फाउंडेशन ने वर्ष 2020 में 125 मेधावी दिव्यांग छात्र छात्राओं को स्वर्गीय श्री डोरीलाल अग्रवाल राष्ट्रीय मेधावी दिव्यांग छात्रवृत्ति प्रदान की है।

वर्ष 2020 की छात्रवृत्ति के लिए 21 राज्यों के 110 जिलों में 159 दिव्यांग छात्र छात्राओं ने आवेदन किया था। इनमें से 80 छात्र-छात्राओं का चयन कर 13,84,000 और वर्ष 2019 के लिए 45 छात्र छात्राओं को 7,48,000 की छात्रवृत्ति दी गई।

संस्था के संस्थापक सदस्य एवं आगरा शाखा के अध्यक्ष डॉक्टर एमसी गुप्ता ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण इस वर्ष छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। स्थानीय सेवा प्रकल्प वर्ष 1985 में मथुरा में शुरू किया था।

वर्ष 1989 से यह कार्यक्रम संस्था के संस्थापक मुख्य संरक्षक एवं अमर उजाला के संस्थापक संपादक श्री डोरीलाल अग्रवाल की स्मृति में हर वर्ष आयोजित किया जा रहा है। अभी तक 3000 मेधावी दिव्यांग छात्र-छात्राओं को करीब 2 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जा चुकी है।

संस्था के सचिव प्रेमचन्द्र जैन ने बताया कि वर्ष  2015 से अमर उजाला फाउंडेशन के जुड़ाव से कार्यक्रम और लोकप्रिय हुआ है। कोरोना महामारी के बावजूद इस बार 125 दिव्यांग छात्र-छात्राओं को 22 लाख 32 हजार रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की गई। यह अब तक का रिकॉर्ड है। बीए, एमए, एमकॉम, एमएससी, एमबीए, एलएलबी, एमएससी एमबीए, एलएलबी, एमसीए, बीटेक, पीएचडी और मेडिकल के छात्र छात्राएं लाभान्वित हुए हैं।

इंजीनियरिंग के 28 छात्र 
संस्था के उपसचिव सुनील विकल ने बताया कि इस वर्ष इंजीनियरिंग में पढ़ रहे 28 छात्र, पीएचडी कर रहे 9 छात्र, एमबीए में अध्ययनरत 4 छात्र, एमसीए में पढ़ रहे 9 छात्र एवं मेडिकल में अध्ययनरत 4 छात्र, बीए में पढ़ रहे 13 और बीएड कर रहे 33 छात्रों के अतिरिक्त अन्य कक्षाओं में अध्ययनरत 23 छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की गई है।

विस्तार

विकलांग सहायता संस्था मथुरा की आगरा शाखा एवं अमर उजाला फाउंडेशन ने वर्ष 2020 में 125 मेधावी दिव्यांग छात्र छात्राओं को स्वर्गीय श्री डोरीलाल अग्रवाल राष्ट्रीय मेधावी दिव्यांग छात्रवृत्ति प्रदान की है।

वर्ष 2020 की छात्रवृत्ति के लिए 21 राज्यों के 110 जिलों में 159 दिव्यांग छात्र छात्राओं ने आवेदन किया था। इनमें से 80 छात्र-छात्राओं का चयन कर 13,84,000 और वर्ष 2019 के लिए 45 छात्र छात्राओं को 7,48,000 की छात्रवृत्ति दी गई।

संस्था के संस्थापक सदस्य एवं आगरा शाखा के अध्यक्ष डॉक्टर एमसी गुप्ता ने बताया कि कोरोना वायरस के कारण इस वर्ष छात्रवृत्ति वितरण कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है। स्थानीय सेवा प्रकल्प वर्ष 1985 में मथुरा में शुरू किया था।

वर्ष 1989 से यह कार्यक्रम संस्था के संस्थापक मुख्य संरक्षक एवं अमर उजाला के संस्थापक संपादक श्री डोरीलाल अग्रवाल की स्मृति में हर वर्ष आयोजित किया जा रहा है। अभी तक 3000 मेधावी दिव्यांग छात्र-छात्राओं को करीब 2 करोड़ रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जा चुकी है।

संस्था के सचिव प्रेमचन्द्र जैन ने बताया कि वर्ष  2015 से अमर उजाला फाउंडेशन के जुड़ाव से कार्यक्रम और लोकप्रिय हुआ है। कोरोना महामारी के बावजूद इस बार 125 दिव्यांग छात्र-छात्राओं को 22 लाख 32 हजार रुपये की छात्रवृत्ति प्रदान की गई। यह अब तक का रिकॉर्ड है। बीए, एमए, एमकॉम, एमएससी, एमबीए, एलएलबी, एमएससी एमबीए, एलएलबी, एमसीए, बीटेक, पीएचडी और मेडिकल के छात्र छात्राएं लाभान्वित हुए हैं।

इंजीनियरिंग के 28 छात्र 

संस्था के उपसचिव सुनील विकल ने बताया कि इस वर्ष इंजीनियरिंग में पढ़ रहे 28 छात्र, पीएचडी कर रहे 9 छात्र, एमबीए में अध्ययनरत 4 छात्र, एमसीए में पढ़ रहे 9 छात्र एवं मेडिकल में अध्ययनरत 4 छात्र, बीए में पढ़ रहे 13 और बीएड कर रहे 33 छात्रों के अतिरिक्त अन्य कक्षाओं में अध्ययनरत 23 छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की गई है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here