Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भिंड4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
आरोपियों से जब्त सामग्री। - Dainik Bhaskar

आरोपियों से जब्त सामग्री।

उत्तरप्रदेश के कन्नौज के बदमाशों का गिरोह जिले में सक्रिय था। भिंड पुलिस ने अंतरराज्यीय लुटेरों का पर्दाफाश किया है। ये बदमाश जिले के विभिन्न इलाकों में लूट की वारदात करते थे। पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ा है। आरोपी कन्नौज से लूट करने भिंड आते थे। इसके बाद वापस चले जाते थे। आरोपियों के पास से 9 लाख रुपए के सोने चांदी के जेवरात सेत दो 315 बोर के कट्टे व तीन जिंदा राउंड भी बरामद किए हैं। आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। गिरोह के एक अन्य साथी की कैंसर से मौत होना बताई जा रही है। हालांकि पुलिस अभी पुष्टि करने में जुटी है। आरोपी राहुल राठौर और रिंकू गुप्ता हैं।

दरअसल, पिछले कुछ वर्षों में लहार, ऊमरी, रौन, असवार और मछंड चौकी क्षेत्र की वारदातों का खुलासा करने एसपी मनोज कुमार सिंह ने एएसपी संजीव कंचन को टास्क दिया। इस पर एएसपी ने डीएसपी हेडक्वाॅर्टर मोतीलाल कुशवाह के नेतृत्व में टीम बनाई। इस दौरान सरहदी बदमाशों का हाथ होने के सुराग मिले, जिससे पुलिस कन्नौज के छिबरामऊ तक पहुंची। जब भिंड पुलिस ने छिबरामऊ पहुंचकर बदमाशों की हिस्ट्री खंगाली, तो चौंकाने वाले तथ्य मिले।

पता चला कि छिबरामऊ के उस्मानपुर निवासी राहुल राठौर पुत्र कालका सिंह राठौर और विष्णुगढ़ निवासी रिंकू गुप्ता पुत्र ईश्वरदयाल गुप्ता के मोबाइल फोन वारदात के समय से कुछ घंटे पहले ही बंद हो जाते थे। कुछ घंटे बाद खुलते थे। ऐसे में पुलिस ने दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। आरोपियों ने जिले में 5 लूट करना स्वीकार किया, जो वर्ष 2018 से 2020 के बीच की हैं।

महिलाओं को करते थे टारगेट
पुलिस के अनुसार बदमाश कस्बों में ऐसी महिलाओं को टारगेट करते थे, जो सोने चांदी के जेवरात पहनकर अकेले पुरुष के साथ सफर कर रही होती थीं। इनका पीछा कर सुनसान रास्ते पर वे पर कट्टे की नोंक पर लूट-पाट करते थे।

यह माल बरामद
पुलिस ने आरोपियों के पास से दो सोने की अंगूठी जेंटस, चार सोने की अंगूठी लेडीज, तीन सोने की चेन, एक सोने का ओम का पेंडल, चार सोने के मंगलसूत्र, दो चांदी की करधोनी, छह जोडी चांदी की पायल, एक काले रंग की पल्सर मोटर साइकिल, दो कट्टे व तीन राउंड बरामद किए हैं।

जेल से चलता था नेटवर्क
बताया जा रहा है, राहुल राठौर पांच भाई है, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है। शेष चारों आपराधिक गतिविधियों में लिप्त हैं। राहुल पर 32 से ज्यादा लूट, हत्या, हत्या के प्रयास, गैंगस्टर एक्ट जैसे अपराध कन्नौज, औरेया, ग्वालियर, दतिया और भिंड में केस दर्ज हैं। इसके अलावा बड़े भाई मोंटू वर्तमान में फतेहगढ़ जेल में बंद है। सूत्रों की मानें, तो वही पूरा नेटवर्क संचालित करता है। इन्हें वारदात को अंजाम देने के लिए हथियार भी वह बेटी के माध्यम से उपलब्ध कराता था। साथ ही, लूटे गए माल में 60 प्रतिशत हिस्सा लेता था।

भाभी को चुनाव लड़ाने की तैयारी
आरोपी राहुल राठौर अपनी भाभी को उत्तरप्रदेश में जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ाने की तैयारी कर रहा था। यह सूचना जब पुलिस को लगी, तो पुलिस ने उसे बाजार में प्रचार सामग्री उठाते समय दबोच लिया।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here