काशी हिंदू विश्वविद्यालय।
– फोटो : अमर उजाला।

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

बीएचयू के शताब्दी सुपरस्पेशियलिटी ब्लॉक(एसएसबी) में बुधवार से ओपीडी शुरू हो गई है। आज से यहां मरीज पहुंचना शुरू हो गए हैं। वहीं, बीएचयू प्रशासन के फैसले को लेकर रार बढ़ती जा रही है। सात विभागों के अध्यक्ष, चिकित्सकों ने आईएमएस निदेशक को पत्र भेजकर आपत्ति जताई है, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन फैसले पर अडिग है।

कार्डियोलॉजी विभाग के चिकित्सक प्रो. ओमशंकर ने पीएमओ को ट्वीट कर यहां ओपीडी चलाने की जानकारी दी है। हालांकि बीएचयू अस्पताल के कार्यवाहक एमएस प्रो.जीएन श्रीवास्तव ने कहा कि नियमानुसार ओपीडी आज से चालू हो गई है।

सात विभागों के अध्यक्ष और चिकित्सकों ने 15 फरवरी को आईएमएस को पत्र भेजकर एसएसबी में कोरोना मरीजों के भर्ती होने का हवाला देते हुए 17 फरवरी से ओपीडी न चलाने की मांग की थी। चिकित्सकों का कहना था कि अभी भी यहां छठी मंजिल पर मरीज भर्ती हैं, ऐसे में संक्रमण की संभावना है। वहीं दिन में आईएमएस निदेशक प्रो. बीआर मित्तल ने भी अधिकारियों संग एसएसबी का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 

बीएचयू अस्पताल में अब होगी कोरोना की जांच 

बीएचयू सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक में ओपीडी शुरू होने के बाद अब यहां पहले से हो रही कोरोना की जांच को भी अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है। कार्यवाहक एमएस प्रो. जीएन श्रीवास्तव ने बताया कि बुधवार से कोरोना की जांच सुपर स्पेशियलिटी के बजाय अस्पताल के कमरा नंबर 103 में होगी। 

बीएचयू के शताब्दी सुपरस्पेशियलिटी ब्लॉक(एसएसबी) में बुधवार से ओपीडी शुरू हो गई है। आज से यहां मरीज पहुंचना शुरू हो गए हैं। वहीं, बीएचयू प्रशासन के फैसले को लेकर रार बढ़ती जा रही है। सात विभागों के अध्यक्ष, चिकित्सकों ने आईएमएस निदेशक को पत्र भेजकर आपत्ति जताई है, लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन फैसले पर अडिग है।

कार्डियोलॉजी विभाग के चिकित्सक प्रो. ओमशंकर ने पीएमओ को ट्वीट कर यहां ओपीडी चलाने की जानकारी दी है। हालांकि बीएचयू अस्पताल के कार्यवाहक एमएस प्रो.जीएन श्रीवास्तव ने कहा कि नियमानुसार ओपीडी आज से चालू हो गई है।

सात विभागों के अध्यक्ष और चिकित्सकों ने 15 फरवरी को आईएमएस को पत्र भेजकर एसएसबी में कोरोना मरीजों के भर्ती होने का हवाला देते हुए 17 फरवरी से ओपीडी न चलाने की मांग की थी। चिकित्सकों का कहना था कि अभी भी यहां छठी मंजिल पर मरीज भर्ती हैं, ऐसे में संक्रमण की संभावना है। वहीं दिन में आईएमएस निदेशक प्रो. बीआर मित्तल ने भी अधिकारियों संग एसएसबी का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here