अमर उजाला नेटवर्क, बरेली
Published by: Vikas Kumar
Updated Sun, 09 May 2021 12:53 AM IST

सार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को कोरोना की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण के साथ तीसरी लहर से मुकाबला करने को तैयार रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में बेड और आईसीयू जैसे जरूरी संसाधन बढ़ाने के लिए तेजी से काम किया जाए। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से की बात
– फोटो : amar ujala

ख़बर सुनें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को कोरोना की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण के साथ तीसरी लहर से मुकाबला करने को तैयार रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में बेड और आईसीयू जैसे जरूरी संसाधन बढ़ाने के लिए तेजी से काम किया जाए। निजी अस्पतालों में मरीजों के शोषण की शिकायतों पर प्रशासन को सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया। जनप्रतिनिधियों ने अफसरशाही की वजह से अव्यवस्था बढ़ने की बात कही तो मुख्यमंत्री अफसरों से भी दोबारा शिकायत का मौका न देने की बात कह गए।

मुरादाबाद से दोपहर बाद बरेली पहुंचे मुख्यमंत्री ने अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की। उन्होंने इस दौरान संदिग्ध संक्रमितों की निगरानी, जांच और संक्रमित के इलाज के साथ कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने, सैनिटाइजेशन, ऑक्सीजन-दवा और बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने पर खास जोर दिया। उन्होंने वैक्सीनेशन में तेजी लाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर का खतरा सामने है लिहाजा कोविड अस्पतालों में तुरंत संसाधन बढ़ाने पर ध्यान दिया जाए। अस्पतालों में बेड और आईसीयू की क्षमता दुरुस्त होनी चाहिए ताकि हर मरीज को इलाज मिल सके। 

जनप्रतिनिधियों ने इस दौरान मुख्यमंत्री से अफसरों के बीच समन्वय न होने से जिले में संक्रमण बढ़ने की बात कही। उन्होंने कहा कि लोगों की जांच के लिए एंटीजन किट पर्याप्त नहीं हैं। सैनिटाइजेशन और सर्वे भी ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा है। होम आइसोलेशन वाले मरीजों की निगरानी भी ठीक से नहीं हो रही है। इस पर मुख्यमंत्री ने अफसरों को दोबारा ऐसी किसी शिकायत का मौका न देने को कहा। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि अगर निजी कोविड अस्पतालों में मरीजों के उत्पीड़न का मामला सामने आता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। 

मीडिया से बोले- संसाधन बढ़े, संक्रमण कम हुआ
मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले आठ दिनों की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि में प्रदेश में संक्रमण के मामले कम हुए हैं। इसके साथ ऑक्सीजन व वेंटिलेटर बेड की तादाद बढ़ी है। जांच और नियमित सैनिटाइजेशन के साथ मरीजों को बेहतर इलाज भी मिल रहा है। संदिग्धों की जांच के साथ लक्षण होने पर मेडिकल किट मुहैया कराई जा रही है। संक्रमितों की निगरानी के लिए निगरानी समितियां काम कर रही हैं। 

मुड़िया अहमदनगर के प्रधान से की बात
करीब 15 मिनट की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सीएम का काफिला मुड़िया अहमदनगर पहुंचा। वहां के ग्राम प्रधान से उन्होंने रैपिड रिस्पॉन्स टीमों के जरिए संक्रमितों की निगरानी और निगरानी समितियों के बारे में जानकारी ली। इसके बाद एयरपोर्ट लौटकर लखनऊ रवाना हो गए। 

विस्तार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को कोरोना की दूसरी लहर पर प्रभावी नियंत्रण के साथ तीसरी लहर से मुकाबला करने को तैयार रहने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में बेड और आईसीयू जैसे जरूरी संसाधन बढ़ाने के लिए तेजी से काम किया जाए। निजी अस्पतालों में मरीजों के शोषण की शिकायतों पर प्रशासन को सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया। जनप्रतिनिधियों ने अफसरशाही की वजह से अव्यवस्था बढ़ने की बात कही तो मुख्यमंत्री अफसरों से भी दोबारा शिकायत का मौका न देने की बात कह गए।

मुरादाबाद से दोपहर बाद बरेली पहुंचे मुख्यमंत्री ने अफसरों और जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक की। उन्होंने इस दौरान संदिग्ध संक्रमितों की निगरानी, जांच और संक्रमित के इलाज के साथ कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने, सैनिटाइजेशन, ऑक्सीजन-दवा और बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने पर खास जोर दिया। उन्होंने वैक्सीनेशन में तेजी लाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर का खतरा सामने है लिहाजा कोविड अस्पतालों में तुरंत संसाधन बढ़ाने पर ध्यान दिया जाए। अस्पतालों में बेड और आईसीयू की क्षमता दुरुस्त होनी चाहिए ताकि हर मरीज को इलाज मिल सके। 

जनप्रतिनिधियों ने इस दौरान मुख्यमंत्री से अफसरों के बीच समन्वय न होने से जिले में संक्रमण बढ़ने की बात कही। उन्होंने कहा कि लोगों की जांच के लिए एंटीजन किट पर्याप्त नहीं हैं। सैनिटाइजेशन और सर्वे भी ठीक ढंग से नहीं हो पा रहा है। होम आइसोलेशन वाले मरीजों की निगरानी भी ठीक से नहीं हो रही है। इस पर मुख्यमंत्री ने अफसरों को दोबारा ऐसी किसी शिकायत का मौका न देने को कहा। उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि अगर निजी कोविड अस्पतालों में मरीजों के उत्पीड़न का मामला सामने आता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए। 

मीडिया से बोले- संसाधन बढ़े, संक्रमण कम हुआ

मीडिया से बातचीत में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले आठ दिनों की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि में प्रदेश में संक्रमण के मामले कम हुए हैं। इसके साथ ऑक्सीजन व वेंटिलेटर बेड की तादाद बढ़ी है। जांच और नियमित सैनिटाइजेशन के साथ मरीजों को बेहतर इलाज भी मिल रहा है। संदिग्धों की जांच के साथ लक्षण होने पर मेडिकल किट मुहैया कराई जा रही है। संक्रमितों की निगरानी के लिए निगरानी समितियां काम कर रही हैं। 

मुड़िया अहमदनगर के प्रधान से की बात

करीब 15 मिनट की प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद सीएम का काफिला मुड़िया अहमदनगर पहुंचा। वहां के ग्राम प्रधान से उन्होंने रैपिड रिस्पॉन्स टीमों के जरिए संक्रमितों की निगरानी और निगरानी समितियों के बारे में जानकारी ली। इसके बाद एयरपोर्ट लौटकर लखनऊ रवाना हो गए। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here