राइजिंग UP 2021 के मंच पर अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला

राइजिंग UP 2021 के मंच पर अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उनकी सरकार पर जमकर हमला बोला

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने राइजिंग यूपी 2021 कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में मंच से कहा, ‘सरकार ने समाजवादी पार्टी शासनकाल के दौरान पूरी हुई योजनाओं का नाम बदलकर उसका पुर्नउद्घाटन करने का काम किया है, और अब वो किए MoU का MoU कर रहे हैं. मुख्यमंत्री को सुबह सबसे पहले आईने में दिखने वाले व्यक्ति को बदलना चाहिए’

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने कहा है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) रोज सुबह आईने में जिसे देखते हैं, उसको बदल दें. बुधवार को लखनऊ (Lucknow) में न्यूज़ 18 के राइजिंग उत्तर प्रदेश 2021 (Rising UP 2021) कार्यक्रम में उन्होंने यह बात कही. कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र ‘साइकिल की सवारी किस पर भारी’ में अखिलेश यादव ने कहा, मैं आपका शुक्रिया अदा करता हूं जो मुझे अपनी बात रखने के लिए यह मंच दिया. इस सत्र का यह नाम जो आपने दिया है वो इससे बेहतर नहीं हो सकता था. जिस तरह से पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ रहे हैं लोगों को आने वाले समय में साइकिल की सवारी करनी पड़ेगी.

समाजवादी पार्टी के स्लोगन ’22 में साइकिल’ पर अखिलेश ने कहा, ‘पिछले चार वर्षों से लोग यह सोच रहे हैं कि कहां है बीजेपी का वो घोषणापत्र, जो उसने विधानसभा चुनाव के वक्त वादा किया था. बीजेपी के पास उत्तर प्रदेश को आगे ले जाने की कोई दृष्टि या रोडमैप नहीं है. सरकार ने समाजवादी पार्टी शासनकाल के दौरान पूरी हुई योजनाओं का नाम बदलकर उसका पुर्नउद्घाटन करने का काम किया है, और अब वो किए MoU का MoU कर रहे हैं. मुख्यमंत्री को सुबह सबसे पहले आईने में दिखने वाले व्यक्ति को बदलना चाहिए.’

अखिलेश ने कहा, आज अगर मैं कुछ पूछना या जानना चाहूं तो, ऐसे लोगों से जेल भेज दिया जाता है. सरकार को यदि किसी की बात अच्छी नहीं लगती तो उसे जेल में बंद कर दिया जाता है. उन्होंने सिर्फ नाम बदलने का काम किया है. आज उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य और शिक्षा के मामले में पिछड़ गया है, और यह बात सरकार द्वारा जारी रिपोर्ट से भी स्पष्ट हो जाता है.’
पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश में कोविड-19 मैनेजमेंट की भी आलोचना की. उन्होंने कहा, मेरठ में बंदर कोविड-19 सैंपल उठाकर ले गए, क्वारंटाइन सेंटर पर एक बच्चे की सांप काटने से मौत हो गई. राजस्थान और महाराष्ट्र से पैदल चलकर आने वाले लाखों लोगों की मौत हो गई, लेकिन उनके लिए कुछ भी नहीं किया गया. सरकार के मंत्रियों की मौत हुई, लोगों की तनख्वाह में कटौती की गई, नौकरियां चली गईं, लेकिन फिर भी वो कहते हैं कि मैनेजमेंट बढ़िया तरीके से हुआ.

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी को उत्तर प्रदेश के लोगों को बताना चाहिए कि उन्हें कब फ्री वैक्सीन मिलेगी. उन्होंने कहा, ‘जब प्रदेश में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी, हम सबको मुफ्त में वैक्सीन देंगे. मैं भी तभी वैक्सीन लगवाऊंगा, जब यह जनता के लिए फ्री होगी.’








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here