अमेरिका के संसद परिसर में फिर से बवाल की साजिश, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

6 जनवरी, 2021 को कैपिटल हिल्स में हिंसा हुई थी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • अमेरिकी संसद परिसर में फिर उत्पात की साजिश
  • साजिश की सूचना से अलर्ट मोड पर एजेंसियां
  • कैपिटल हिल्स में 6 जनवरी को हुई थी हिंसा

वॉशिंगटन:

अमेरिकी संसद भवन परिसर में फिर से उपद्रव करने की साजिश उजागर होने के बाद बृहस्पतिवार को सुरक्षा बढ़ा दी गई. दो महीने पहले पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग (संसद भवन) में उत्पात मचाया था और संसद की कार्यवाही रोकने की कोशिश की थी. उस समय राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) की जीत की पुष्टि की कार्यवाही चल रही थी. ‘क्वानोन’ के समर्थकों के वाशिंगटन पहुंचकर उत्पात मचाने से जुड़ी खुफिया सूचनाएं मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हैं. समर्थकों के बीच यह संदेश प्रसारित किया गया कि पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप चार मार्च को फिर से सत्ता संभालेंगे और डेमोक्रेट नेताओं को पद से हटा देंगे.

यह भी पढ़ें

अमेरिका में 1933 तक राष्ट्रपति चार मार्च को ही शपथ लेते थे. बाद में यह समारोह 20 जनवरी को होने लगा. सुरक्षा से जुड़ी एजेंसियों के मुताबिक सरकार विरोधी मीलिशिया समूह ‘थ्री परसेंटर्स’ के सदस्यों के बीच हुई वार्ता से इसका खुलासा हुआ. छह जनवरी को संसद परिसर में उत्पात मचाने वालों में इस समूह के भी सदस्य थे. यह मामला ऐसे वक्त उजागर हुआ है, जब छह जनवरी को हुई घटना से सही से नहीं निपट पाने के लिए संसद में पुलिस और अन्य सुरक्षा एजेंसियों की भूमिका पर लगातार चर्चा हो रही है.

US: हिंसा की जिम्मेदारी से डोनाल्ड ट्रंप का इंकार, बोले- ये शांति बनाए रखने का समय

ट्रंप के समर्थकों से निपटने के लिए पुलिस सही तरह से तैयार नहीं थी. नेशनल गार्ड्स के जवानों को भी मोर्चा संभालने में कई घंटे लग गए. तब तक उपद्रवी इमारत में जबरदस्त तोड़फोड़ कर चुके थे. हिंसा की घटना के कारण जीत की पुष्टि की कार्यवाही भी अस्थायी तौर पर रोकनी पड़ी थी और सांसदों को उपद्रवियों से बचने के लिए छिपना पड़ा था. कैपिटल पुलिस ने एक बयान में कहा, ‘‘पुलिस विभाग कैपिटल परिसर में उत्पात या सांसदों को किसी भी संभावित खतरे को टालने के लिए पूरी तरह तैयार है.”

अमेरिका के विदेश मंत्री बोले- अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को गंभीर चुनौती देने की क्षमता रखता है चीन

सांसदों को भी बुधवार सुबह इस बारे में अवगत करा दिया गया. संसद के कार्यवाहक सुरक्षा प्रमुख टिमोथी ब्लोजेट ने कहा कि ऐसे संकेत नहीं मिले हैं कि कोई समूह प्रदर्शन के लिए वाशिंगटन आएगा या हिंसक घटनाएं करेगा लेकिन इस परामर्श को फिर से अद्यतन किया गया. ब्लोजेट ने कैपिटल पुलिस को लिखा कि उन्हें नई और चिंताजनक सूचना मिली है. खुफिया जानकारी संकेत दे रही है कि चार से छह मार्च के बीच मीलिशिया ग्रुप कैपिटल का रूख कर सकते हैं.

VIDEO: डोनाल्ड ट्रंप पर तख्तापलट का आरोप, कैपिटल हिल्स हिंसा में 4 की मौत

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here