[ad_1]

फोटो सौ. (ट्विटर- @milinddeora)

फोटो सौ. (ट्विटर- @milinddeora)

कोरोना काल में अमेरिका (America) में गाय को गले लगाने (Cow Hug) के लिए लोग पैसे दे रहे हैं. कांग्रेस नेता मिलिंद देवरा द्वारा ट्विटर पर शेयर किए गए सीएनबीसी के एक वीडियो में बताया गया है कि अमेरिका में लोग गाय को गले लगाने के लिए एक घंटे के लिए 200 डॉलर तक का भुगतान कर रहे हैं.

वाशिंगटन. कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर के चलते इस समय देश और दुनिया का हाल बेहाल है. लोग लगातार जान गंवा रहे हैं. वहीं संक्रमण से बचाव के लिए लॉकडाउन (Lockdown) में लोग घरों में कैद से हो गए हैं. ऐसे में डिप्रेशन और एंग्जायटी की समस्या भी आम होती जा रही है. हालांकि लोग अपने-अपने तरीकों से इससे जूझ रहे हैं लेकिन अमेरिका में इसके लिए अनोखी तरकीब निकाली गई है. यहां मानसिक शांति के लिए गाय को गले लगाया जा रहा है. कोरोना काल में अमेरिका में गाय को गले लगाने के लिए लोग पैसे दे रहे हैं. कांग्रेस नेता मिलिंद देवरा द्वारा ट्विटर पर शेयर किए गए सीएनबीसी के एक वीडियो में बताया गया है कि अमेरिका में लोग गाय को गले लगाने के लिए एक घंटे के लिए 200 डॉलर तक का भुगतान कर रहे हैं. उन्होंने लिखा कि साफ है कि भारत इसमें आगे है. यहां गायों को 3000 सालों से पूजा जा रहा है.

ये भी पढ़ें: डॉ. फौसी ने की वुहान लैब की जांच की मांग, कहा- कोरोना वायरस के स्वाभाविक रूप से विकसित होने पर यकीन नहींक्या-क्या हैं फायदे डॉक्टरों का कहना है कि गाय को गले लगाने का एहसास घर पर एक बच्चे या पालतू जानवर को पालने के समान है. “एक हग हैप्पी हार्मोन ऑक्सीटोसिन, सेरोटोनिन और डोपामाइन को ट्रिगर करता है, जिससेकोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) को कम करता है. ये तनाव के स्तर, चिंता और अवसाद के लक्षणों को कम करता है.” साथ ही गाय स्वभाव से शांत, कोमल और धैर्यवान होती हैं और गले लगाने वालों को जानवर उसके गर्म शरीर के तापमान, धीमी गति से दिल की धड़कन और बड़े आकार से फायदा होता है. यह सब शरीर के मेटाबोलिज्म, इम्यूनिटी और तनाव प्रतिक्रिया को रेगुलेट करने में मदद करता है.







[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here