[ad_1]

US एक्सपर्ट कमेटी ने भी Pfizer वैक्सीन के इस्तेमाल को दी हरी झंडी, पक्ष में पड़े 22 में से 17 वोट

Coronavirus Vaccine: अमेरिका से पहले ब्रिटेन, कनाडा, बहरीन और सउदी अरब Pfizer कोविड-19 वैक्सीन के इस्तेमाल को हरी झंडी दे चुके हैं.

खास बातें

  • US एक्सपर्ट कमेटी ने भी दी Pfizer के वैक्सीन को हरी झंडी
  • विशेषज्ञ समिति के 22 सदस्यों में से 17 ने पक्ष में की वोटिंग
  • ब्रिटेन, कनाडा, बहरीन और सङदी अरब के बाद एमिर्की बना पांचवा ऐसा देश

वाशिंगटन:

अमेरिकी फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (US Food and Drug Administration) की एक विशेषज्ञ समिति ने गुरुवार को कोविड-19 (Coronavirus) के खिलाफ Pfizer-BioNTech वैक्सीन के आपातकालीन उपयोग को हरी झंडी दे दी है. 22 लोगों की इस विशेषज्ञ समिति में वैक्सीन का इस्तेमाल करने के पक्ष में 22 वोट पड़े जबकि उसके विरोध में चार वोट पड़े. एक सदस्य बैठक से गायब रहे.

यह भी पढ़ें

विशेषज्ञ समिति को यह जवाब देने का काम सौंपा गया था कि उपलब्ध वैज्ञानिक प्रमाणों की समग्रता के आधार पर, क्या फाइजर-बायोएनटेक (Pfizer-BioNTech)  कोविड -19 वैक्सीन के लाभ 16 साल और उससे अधिक उम्र के व्यक्तियों में उपयोग करने पर इसके जोखिम को कम करते हैं?

कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों Pfizer-BioNTech ने बताया- साइबर अटैक में वैक्सीन के डॉक्यूमेंट्स हैक

स्वतंत्र विशेषज्ञों और शोधकर्ताओं समेत संक्रामक रोग विशेषज्ञों, बायोस्टेटिस्ट और अन्य वैज्ञानिकों द्वारा वोट बाध्यकारी नहीं है, लेकिन फुड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन द्वारा आने वाले दिनों में उनके द्वारा की गई सिफारिश का अनुपालन करने की भी उम्मीद है.

बता दें कि अमेरिका से पहले ब्रिटेन, कनाडा, बहरीन और सउदी अरब इस वैक्सीन के इस्तेमाल को हरी झंडी दे चुका है. यह कंपनी पूरी दुनिया में पहली ऐसी फार्मा कंपनी बन गई है जो तीसरे फेज के क्लिनिकल ट्रायल के बाद बड़े पैमाने पर वैक्सीन का उत्पादन कर रही है.

‘बड़ी कामयाबी’ : Peer-Reviewed जर्नल में प्रकाशित हुए Pfizer वैक्सीन के नतीजे

Newsbeep

रूसी और चीनी वैक्सीन भी पहले से ही बड़े पैमाने पर उत्पादित किए जा रहे हैं, लेकिन उसने तुलनात्मक क्लीनिकल ट्रायल्स पूरे नहीं किए हैं. हालांकि, Pfizer-BioNTech द्वारा 44,000 लोगों पर किए गए ट्रायल के पूर्ण परिणाम रिपोर्ट गुरुवार को न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित किया गया था, जो एक प्रमुख मील का पत्थर है.

वीडियो- फाइजर ने भारत में वैक्सीन के इस्तेमाल के लिए किया आवेदन

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here