सब्सिडियरी के गठन के...- India TV Paisa
Photo:BEML

सब्सिडियरी के गठन के प्रस्ताव को मंजूरी

नई दिल्ली। बीईएमएल लि.ने शनिवार को कहा कि कंपनी की रणनीतिक विनिवेश प्रक्रिया के तहत कंपनी की अधिशेष भूमि और परिसंपत्तियों को अलग करने के लिए एक पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी के गठन के प्रस्ताव पर दीपम और नीति आयोग ने सहमति दे दी है। शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बीईएमएल ने कहा, ‘‘रक्षा मंत्रालय ने सूचित किया है कि निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) तथा नीति आयोग ने बीईएमएल की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी के गठन के प्रस्ताव पर सहमति दे दी है। बीईएमएल के रणनीतिक विनिवेश के तहत अधिशेष भूमि और संपत्तियों को अलग करने के लिए पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी का गठन किया जाएगा।

बीईएमएल (पूर्व में भारत अर्थ मूवर्स लि.) की स्थापना मई, 1964 में रेल कोच और कलपुर्जों तथा खनन उपकरणों के विनिर्माण के लिए सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम के रूप में की गई थी। कंपनी का आंशिक विनिवेश हो चुका है। फिलहाल कंपनी में सरकार की हिस्सेदारी 54 प्रतिशत है। शेष 46 प्रतिशत हिस्सेदारी आम निवेशकों , बैंकों, विदेशी संस्थागत निवेशकों और कर्मचारियों के पास है।

बीईएमएल ने साल 2020-21 के दौरान अपना अब तक का सबसे अधिक टर्नओवर दर्ज किया है। वित्तीय वर्ष के दौरान कंपनी ने 3557 करोड़ रुपये का रिकॉर्ड टर्नओवर दिखाया है। इस पिछले वित्त वर्ष में कंपनी ने 3029 करोड़ रुपये का टर्नओवर दर्ज किया था। वहीं बीते वित्त वर्ष में कंपनी का मुनाफा 93 करोड़ रुपये रहा है, जिसमें साल दर साल के आधार पर 285 प्रतिशत का उछाल देखने को मिला ।

 

यह भी पढ़ें: सस्ते होंगे कोविड-19 के इलाज में जरूरी दवा और उपकरण, जीएसटी काउंसिल की टैक्स में कटौती

यह भी पढ़ें: SBI देगा सिर्फ 8.5 प्रतिशत पर पर्सनल लोन, कोरोना संकट में मिलेगी मदद





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here