लंदन: संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका, ब्रिटेन समेत G7 समूह के सभी देश एक ऐतिहासिक डील (Historical Agreement) करने जा रहे हैं. यह डील गूगल, एप्‍पल, फेसबुक जैसी मल्‍टीनेशनल कंपनियों पर ऊंचा वैश्विक कर लगाने को लेकर है. इसके तहत इन कंपनियों पर 15 फीसदी का कॉरपोरेट टैक्‍स (Corporate Tax) लगाया जाएगा. सभी देशों के बीच इस पर सहमति बन गई है और डील पर 11 से 13 जून के बीच होने वाले कोर्नवाल में हस्‍ताक्षर होंगे. 

कई सालों से उठ रही थी मांग 

गैजेट्स 360 डिग्री में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक लंदन में हुई बैठक की अध्‍यक्षता करने के बाद ब्रिटेन के वित्त मंत्री (Finance Minister) ऋषि सुनक (Rishi Sunak) ने कहा, ‘जी-7 समूह के देशों के वित्त मंत्रियों ने ग्‍लोबल टैक्‍स सिस्‍टम में सुधार करने के लिए ऐतिहासिक करार पर सहमति जता दी है. ब्रिटेन लंबे समय से टैक्‍स में इन सुधारों की मांग कर रहा था. इससे ब्रिटेन के करदाताओं को बड़ा इनाम मिलेगा. साथ ही यह सुनिश्चित होगा कि सभी कंपनियां सही स्थान पर सही कर का भुगतान करें.’

यह भी पढ़ें: इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए सोमवार को लांच होगा नया पोर्टल, प्रोसेसिंग-रिफंड में नहीं होगी देरी

कंपनियों को बताना होगा पर्यावरण पर होने वाला असर 

जी7 देशों के वित्त मंत्रियों के बीच इस पर सहमति बन गई है कि अब कंपनियों को उन पर्यावरणीय प्रभावों के बारे में भी बताना होगा, जिनके पीछे वे जिम्‍मेदार हैं. ताकि निवेशक आसानी से निर्णय ले सकें कि उन्हें उन कंपनियों को फंडिंग करनी है या नहीं. बता दें कि जी7 समूह में – ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली और जापान हैं. 

कोर्नवाल में लगेगी मुहर 

वित्त मंत्रियों की यह बैठक जी-7 के नेताओं की सालाना शिखर बैठक से पहले हुई है. इस करार पर जी7 की शिखर बैठक में मुहर लगेगी. शिखर सम्मेलन ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन की अध्यक्षता में 11-13 जून तक कोर्नवाल में आयोजित किया जाएगा. 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here