[ad_1]

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बृहस्पतिवार को कहा कि विश्व में हर एक जल की एक्सपायरी तिथि होती है लेकिन गंगा जल ही एकमात्र ऐसा जल है जो कभी खराब नहीं होता।  गंगा जल औषधीय तत्व समेटे जीवन शक्ति का नाम है। इसीलिए इसे हम गंगा मां कहकर पुकारते हैं। चंपत राय ने यह बातें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अनुषांगिक संगठन गंगा समग्र की ओर लगाई गई प्रदर्शनी के उद्घाटन के अवसर पर कही। 

परेड ग्राउंड स्थित विश्व हिंदू परिषद शिविर में लगी प्रदर्शनी  के उद्घाटन के बाद चंपत राय ने कहा कि संपूर्ण भारतीय समाज को गंगा की रक्षा के लिए आगे आने का आह्वान किया। गंगा समग्र के उद्देश्य को स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि गंगोत्री से गंगासागर तक दोनों तटों पर बसे नगरों एवं गांव के लोगों की ओर से गंगा की रक्षा के लिए चलाए जाने वाले एक बड़े अभियान का नाम गंगा समग्र है।  

कार्यक्रम में अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि संतों के संकल्पों को पूरा करने का काम गंगा समग्र कर रहा है । उत्तर प्रदेश में बदायूं से बलिया तक गंगा के दोनों तटों पर प्रतिदिन आरती करने की योजना सराहनीय  है । उन्होंने विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे अशोक सिंहल को भी याद किया। कहा कि उनके दो ही सपने थे, पहला राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण और गंगा का निर्मलीकरण।  पहला सपना पूरा होने जा रहा है दूसरा भी सब के सहयोग से पूरा हो जाएगा।

इसके पूर्व उत्तर प्रदेश सरकार के अपर महाधिवक्ता महेश चंद्र चतुर्वेदी ने अपने  उद्बोधन में निर्मल गंगा के लिए गंगा समग्र की योजनाओं के क्रियान्वयन पर बल दिया। गंगा समग्र के केंद्रीय महामंत्री डॉ. आशीष गौतम ने अतिथियों का परिचय कराया तथा  संचालन क्षेत्र संयोजक चिंतामणि सिंह ने किया। इस अवसर पर  गंगा समग्र के राष्ट्रीय संगठन सचिव मिथिलेश नारायण, संघ के प्रांत प्रचारक रमेश, विहिप के क्षेत्र संगठन मंत्री अंबरीश सिंह,  प्रांत संगठन मंत्री मुकेश, मोहन सिंह, अशोक उपाध्याय, डॉ. मुरारजी त्रिपाठी, अश्विनी मिश्रा, डॉ. नरेंद्र सिंह गौर, डॉ. कीर्तिका अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, गौरव जायसवाल, अमित पाठक आदि मौजूद रहे। 
 

गंगा के संरक्षण के लिए बनेगा रोड मैप

गंगा समग्र की 19 और 20 फरवरी को विहिप शिविर में होने वाली बैठक में  अविरल-निर्मल गंगा के लिए नई कार्ययोजना बनने की उम्मीद है। इस दौरान गंगा समग्र के अब तक किए गए कार्यों की भी समीक्षा की जाएगी। संघ प्रमुख इस बैठक में 20 फरवरी को शिरकत करेंगे। गंगा समग्र के राष्ट्रीय संगठन सचिव मिथिलेश नारायण ने बताया गंगा समग्र कार्यक्रम का उद्घाटन सत्र शुक्रवार दोपहर तीन बजे शुरू होगा जो रात्रि 11 बजे तक चलेगा। इस सत्र में संघ के सह-सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल भी मार्गदर्शन करेंगे।  

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बृहस्पतिवार को कहा कि विश्व में हर एक जल की एक्सपायरी तिथि होती है लेकिन गंगा जल ही एकमात्र ऐसा जल है जो कभी खराब नहीं होता।  गंगा जल औषधीय तत्व समेटे जीवन शक्ति का नाम है। इसीलिए इसे हम गंगा मां कहकर पुकारते हैं। चंपत राय ने यह बातें राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अनुषांगिक संगठन गंगा समग्र की ओर लगाई गई प्रदर्शनी के उद्घाटन के अवसर पर कही। 

परेड ग्राउंड स्थित विश्व हिंदू परिषद शिविर में लगी प्रदर्शनी  के उद्घाटन के बाद चंपत राय ने कहा कि संपूर्ण भारतीय समाज को गंगा की रक्षा के लिए आगे आने का आह्वान किया। गंगा समग्र के उद्देश्य को स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि गंगोत्री से गंगासागर तक दोनों तटों पर बसे नगरों एवं गांव के लोगों की ओर से गंगा की रक्षा के लिए चलाए जाने वाले एक बड़े अभियान का नाम गंगा समग्र है।  

कार्यक्रम में अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि संतों के संकल्पों को पूरा करने का काम गंगा समग्र कर रहा है । उत्तर प्रदेश में बदायूं से बलिया तक गंगा के दोनों तटों पर प्रतिदिन आरती करने की योजना सराहनीय  है । उन्होंने विहिप के अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे अशोक सिंहल को भी याद किया। कहा कि उनके दो ही सपने थे, पहला राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण और गंगा का निर्मलीकरण।  पहला सपना पूरा होने जा रहा है दूसरा भी सब के सहयोग से पूरा हो जाएगा।

इसके पूर्व उत्तर प्रदेश सरकार के अपर महाधिवक्ता महेश चंद्र चतुर्वेदी ने अपने  उद्बोधन में निर्मल गंगा के लिए गंगा समग्र की योजनाओं के क्रियान्वयन पर बल दिया। गंगा समग्र के केंद्रीय महामंत्री डॉ. आशीष गौतम ने अतिथियों का परिचय कराया तथा  संचालन क्षेत्र संयोजक चिंतामणि सिंह ने किया। इस अवसर पर  गंगा समग्र के राष्ट्रीय संगठन सचिव मिथिलेश नारायण, संघ के प्रांत प्रचारक रमेश, विहिप के क्षेत्र संगठन मंत्री अंबरीश सिंह,  प्रांत संगठन मंत्री मुकेश, मोहन सिंह, अशोक उपाध्याय, डॉ. मुरारजी त्रिपाठी, अश्विनी मिश्रा, डॉ. नरेंद्र सिंह गौर, डॉ. कीर्तिका अग्रवाल, सुरेश अग्रवाल, गौरव जायसवाल, अमित पाठक आदि मौजूद रहे। 

 

गंगा के संरक्षण के लिए बनेगा रोड मैप

गंगा समग्र की 19 और 20 फरवरी को विहिप शिविर में होने वाली बैठक में  अविरल-निर्मल गंगा के लिए नई कार्ययोजना बनने की उम्मीद है। इस दौरान गंगा समग्र के अब तक किए गए कार्यों की भी समीक्षा की जाएगी। संघ प्रमुख इस बैठक में 20 फरवरी को शिरकत करेंगे। गंगा समग्र के राष्ट्रीय संगठन सचिव मिथिलेश नारायण ने बताया गंगा समग्र कार्यक्रम का उद्घाटन सत्र शुक्रवार दोपहर तीन बजे शुरू होगा जो रात्रि 11 बजे तक चलेगा। इस सत्र में संघ के सह-सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल भी मार्गदर्शन करेंगे।  

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here