आगरा6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
ए - Dainik Bhaskar

मनरेगा योजना के तहत आगरा में उटनगन नदी का जीर्णोद्धार कराने में चुनावी झलक भी देखने को मिली है।एक ही नदी के जीर्णोद्धार का दो बार अलग अलग विधायकों द्वारा शुभारंभ किया गया है।हालांकि इस मामले में विधायक का कहना है कि दोनों विधायकों ने अपनी-अपनी विधानसभा के अन्तर्गत योजना का शुभारंभ किया है और इसमें कुछ गलत नहीं है। बता दें कि उटनगन नदी आगरा की बाह तहसील,फतेहाबाद तहसील और खेरागढ़ तहसील के अन्तर्गत है।काफी समय से नदी सूखी है। इस बार वर्षा का मौसम आने से पहले ही मनरेगा योजना के तहत इस नदी का जीर्णोद्धार किया जा रहा है।

5 जून को हुआ पहला शुभारंभ

मनरेगा योजना के तहत बीती 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर सीडीओ ए मनिकनन्दन और विधायक फतेहाबाद जितेंद्र वर्मा द्वारा विकास खंड फतेहाबाद के ग्राम पंचायत खंडेर में उनटंगन नदी के जीर्णोद्धार का शुभारंभ किया गया। खुद विधायक ने फावड़ा और तसला लेकर काम शुरू किया।

आज बाह में हुआ उद्घाटन
बाह तहसील के सेरब गांव में आज बाह विधायक रानी पक्षालिका सिंह ने नदी के जीर्णोद्धार का शुभारंभ किया।हालांकि दूसरी बार नदी का उद्घाटन होने के मामले में उनसे संपर्क करने का प्रयास किया गया पर नहीं हो पाया।

फतेहाबाद विधायक बोले-सब सही हुआ

फतेहाबाद तहसील के विधायक जितेंद्र वर्मा ने कहा कि अलग-अलग विधानसभा हैं और दोनों विधायकों ने अपने विधानसभा क्षेत्र में उद्घाटन किया है।अपनी विधानसभा की योजनाओं का शुभारंभ करना गलत नहीं है।

क्या चुनावी तैयारी के लिए चेहरा चमकाने का है प्रयास

मनरेगा के तहत होने वाले काम केंद्र सरकार के द्वारा दिये गए धन से होते हैं।ग्रामप्रधान के पास काम की जिम्मेदारी होती है और हर मजदूर के खाते में सीधा मजदूरी भेजी जाती है।दोनों ही जगह विधायक निधि का कोई इस्तेमाल नहीं हुआ है। ऐसे में विपक्ष का कहना है कि चुनाव की तैयारी का बिगुल बज चुका है और सरकारी खर्च पर चेहरा चमकाने ने की कवायद हो रही है।

हो सकता है तीसरा उद्घाटन

अभी उटनगन नदी के जीर्णोद्धार का काम खेरागढ़ तहसील में भी होना है, ऐसे में यह कयास लगाए जा रहे हैं कि कहीं वहां भी उदघाटन न हो जाए। हालांकि खेरागढ़ के विधायक महेश गोयल द्वारा पुष्टि नही की गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here