ख़बर सुनें

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण ऑक्सीजन सिलिंडर की मांग अचानक बढ़ गई है। ऑक्सीजन सिलिंडर का उत्पादन करने वाली नैनी स्थित पारेरहॉट केमिकल्स प्राइवेट लिमिटेड में सिलिंडर लेने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है। रविवार देर रात तक सिलिंडर लेने वाले लोगों की भीड़ जुटी रही।
शहर उत्तरी से भाजपा विधायक व कंपनी निदेशक हर्ष वर्धन बाजपेयी ने शनिवार को सोशल मीडिया से जरूरतमंदों को प्लांट से ऑक्सीजन सिलिंडर देने की घोषणा की थी।

इसके बाद रविवार को यहां ऑक्सीजन सिलिंडर लेने वालों की कतार लग गई। सिलिंडर लेने के लिए लोगों को एक से दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा। शनिवार से लेकर रविवार शाम तक लगभग छोटे व बड़े 4500 सिलिंडर जरूरतमंदों ने लिए। हर्ष वर्धन ने बताया कि प्लांट की क्षमता 2000 सिलिंडर प्रतिदिन की है, लेकिन कोरोना संक्रमित गंभीर मरीज बढ़ने के कारण यह मांग प्रतिदिन 3500 सिलिंडर तक पहुंच गई है।

इन ऑक्सीजन सिलिंडरों की आपूर्ति शहर के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में होती है। बीते तीन चार दिनों में सिलिंडर की मांग में एकाएक काफी वृद्धि हुई है। छोटे सिलिंडर की कीमत 150 रुपये व बड़े सिलिंडर की कीमत 300 से 500 रुपये है। हर्ष वर्धन ने बताया कि प्लांट 24 घंटे संचालित किया जा रहा है। तीन शिफ्ट में लगभग 48 कर्मचारी काम कर रहे हैं। 

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के कारण ऑक्सीजन सिलिंडर की मांग अचानक बढ़ गई है। ऑक्सीजन सिलिंडर का उत्पादन करने वाली नैनी स्थित पारेरहॉट केमिकल्स प्राइवेट लिमिटेड में सिलिंडर लेने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है। रविवार देर रात तक सिलिंडर लेने वाले लोगों की भीड़ जुटी रही।

शहर उत्तरी से भाजपा विधायक व कंपनी निदेशक हर्ष वर्धन बाजपेयी ने शनिवार को सोशल मीडिया से जरूरतमंदों को प्लांट से ऑक्सीजन सिलिंडर देने की घोषणा की थी।

इसके बाद रविवार को यहां ऑक्सीजन सिलिंडर लेने वालों की कतार लग गई। सिलिंडर लेने के लिए लोगों को एक से दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा। शनिवार से लेकर रविवार शाम तक लगभग छोटे व बड़े 4500 सिलिंडर जरूरतमंदों ने लिए। हर्ष वर्धन ने बताया कि प्लांट की क्षमता 2000 सिलिंडर प्रतिदिन की है, लेकिन कोरोना संक्रमित गंभीर मरीज बढ़ने के कारण यह मांग प्रतिदिन 3500 सिलिंडर तक पहुंच गई है।

इन ऑक्सीजन सिलिंडरों की आपूर्ति शहर के सरकारी व प्राइवेट अस्पतालों में होती है। बीते तीन चार दिनों में सिलिंडर की मांग में एकाएक काफी वृद्धि हुई है। छोटे सिलिंडर की कीमत 150 रुपये व बड़े सिलिंडर की कीमत 300 से 500 रुपये है। हर्ष वर्धन ने बताया कि प्लांट 24 घंटे संचालित किया जा रहा है। तीन शिफ्ट में लगभग 48 कर्मचारी काम कर रहे हैं। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here