पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

कोखराज कोतवाली के हसनपुर गांव में शुक्रवार की रात हुई मासूम की हत्या का महज चंद घंटे में ही पुलिस ने खुलासा कर दिया। शनिवार को पुलिस ने हत्यारोपी पड़ोसी दंपती व उसकी बेटी समेत तीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक महीने भर पहले आरोपी दंपती की बेटी की रहस्यमय हालत में मौत हो गई थी। दंपती ने अपने पट्टीदार पर तंत्र-मंत्र का आरोप लगाया था। इसके बाद वह पड़ोसी से रंजिश रखने और सबक सिखाने की फिराक में थे। दंपती ने बेटी की मौत का बदला लेने के लिए मासूम की हत्या करने का जुर्म कुबूल कर लिया है।

    कोखराज कोतवाली के हसनपुर गांव निवासी ज्ञान सिंह का दो वर्षीय बेटा शिवा शुक्रवार की शाम तकरीबन पांच बजे रहस्यमय हालत में गायब हो गया था। इसके बाद गांव में बच्चे के गायब होने को लेकर काफी हल्ला मचा। ग्रामीणों ने शक के आधार पर पूरे मोहल्ले के घरों की तलाशी ली। इस बीच पड़ोसी रामसूरत ने अपने घर की तलाशी देने से इंकार कर दिया। शक गहराने पर लोगों ने रामसूरत के घर की घेराबंदी कर दी। सूचना मिलने पर एसपी अभिनंदन सैनी, कड़ा व कोखराज कोतवाली पुलिस के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। रामसूरत के घर की तलाशी के दौरान पानी भरने वाली स्टील की टंकी में बंद मासूम शिवा की लाश मिली।

मासूम की हत्या गला घोंटकर की गई थी। पीड़ित परिवार ने रामसूरत, रामरती उर्फ रजुला व बेटी निर्मला उर्फ बच्चा के खिलाफ हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने चंद घटे बाद ही तीनों आरोपियों को नियामतपुर पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को मामले का खुलासा करते हुए एएसपी समर बहादुर सिंह ने बताया कि आरोपी की बेटी की एक माह पहले मौत हो गई थी। उसे शक था कि मृतक शिवा के पिता ज्ञान सिंह ने ही तंत्र-मंत्र के चक्कर में उसकी बेटी को मौत की नींद सुला दिया। इसका प्रतिशोध लेने के लिए उसने दो वर्षीय मासूम शिवा की गला घोंटकर हत्या कर दी। एएसपी के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ लिखापढ़ी कर सभी का चालान कर दिया गया है।

कोखराज कोतवाली के हसनपुर गांव में शुक्रवार की रात हुई मासूम की हत्या का महज चंद घंटे में ही पुलिस ने खुलासा कर दिया। शनिवार को पुलिस ने हत्यारोपी पड़ोसी दंपती व उसकी बेटी समेत तीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक महीने भर पहले आरोपी दंपती की बेटी की रहस्यमय हालत में मौत हो गई थी। दंपती ने अपने पट्टीदार पर तंत्र-मंत्र का आरोप लगाया था। इसके बाद वह पड़ोसी से रंजिश रखने और सबक सिखाने की फिराक में थे। दंपती ने बेटी की मौत का बदला लेने के लिए मासूम की हत्या करने का जुर्म कुबूल कर लिया है।

    कोखराज कोतवाली के हसनपुर गांव निवासी ज्ञान सिंह का दो वर्षीय बेटा शिवा शुक्रवार की शाम तकरीबन पांच बजे रहस्यमय हालत में गायब हो गया था। इसके बाद गांव में बच्चे के गायब होने को लेकर काफी हल्ला मचा। ग्रामीणों ने शक के आधार पर पूरे मोहल्ले के घरों की तलाशी ली। इस बीच पड़ोसी रामसूरत ने अपने घर की तलाशी देने से इंकार कर दिया। शक गहराने पर लोगों ने रामसूरत के घर की घेराबंदी कर दी। सूचना मिलने पर एसपी अभिनंदन सैनी, कड़ा व कोखराज कोतवाली पुलिस के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। रामसूरत के घर की तलाशी के दौरान पानी भरने वाली स्टील की टंकी में बंद मासूम शिवा की लाश मिली।

मासूम की हत्या गला घोंटकर की गई थी। पीड़ित परिवार ने रामसूरत, रामरती उर्फ रजुला व बेटी निर्मला उर्फ बच्चा के खिलाफ हत्या की नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने चंद घटे बाद ही तीनों आरोपियों को नियामतपुर पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। शनिवार को मामले का खुलासा करते हुए एएसपी समर बहादुर सिंह ने बताया कि आरोपी की बेटी की एक माह पहले मौत हो गई थी। उसे शक था कि मृतक शिवा के पिता ज्ञान सिंह ने ही तंत्र-मंत्र के चक्कर में उसकी बेटी को मौत की नींद सुला दिया। इसका प्रतिशोध लेने के लिए उसने दो वर्षीय मासूम शिवा की गला घोंटकर हत्या कर दी। एएसपी के मुताबिक आरोपियों के खिलाफ लिखापढ़ी कर सभी का चालान कर दिया गया है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here