मिर्जापुर8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
परिजन चारपाई पर डोली खटोली बनाकर घर से आठ किलोमीटर दूरी पर स्थित अस्पताल पहुंच गए। - Dainik Bhaskar

परिजन चारपाई पर डोली खटोली बनाकर घर से आठ किलोमीटर दूरी पर स्थित अस्पताल पहुंच गए।

जिले के लालगंज तहसील क्षेत्र के तिलांव गांव निवासी सत्तू 42 वर्ष गंभीर रुप से बीमार हो गए लेकिन घर में कोई फोन न होने की वजह से परिजन एंबुलेंस का इंतजाम न कर सके। ऐसे में परिजनों ने सत्तू के लिए चारपाई को ही एंबुलेंस बना दिया। मरीज को उसमे लाद फांद कर 8 किमी की दूरी तय कर अस्पताल पहुंचे। जब पीड़ित की फोटो सामने आई तो प्रशासन में हडकंप मच गया।

काफी गरीब है मरीज का परिवार

सत्तू मुसहर जाति के है। बताया जा रहा है कि मुसहर जाति के लोग आज भी अभावों में जीवन गुजार रहे हैं। आधुनिक सुविधाएं तो बहुत दूर की बात है। विकास के नाम पर भले ही ढिंढोरा पीटा जा रहा है लेकिन मुसहर जाति के लोग आज भी विकास से कोसों दूर है। शुक्रवार को क्षेत्र के तिलांव गांव निवासी सत्तु मुसहर बीमार पड़ा तो उसे अस्पताल तक पहुंचाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा नही मिल सकी। उसके परिवार में कोई मोबाइल ही नही है। परिजन चारपाई पर डोली खटोली बनाकर घर से आठ किलोमीटर दूरी पर स्थित अस्पताल पहुंच गए। ​​​​​​

ग्राम प्रधान से भी नहीं मिली मदद

इस परिवार के सामने आई मुसीबत का न तो गांव के ग्राम प्रधान ने संज्ञान में लिया और न ही प्रशासन ने ध्यान दिया। न ही आठ किलोमीटर की सफर में कोई भी मददगार सामने आया। सत्तू पेट दर्द से कराह रहे थे। परिजनों ने जान बचाने के लिए आठ किलोमीटर की दूरी तय कर ली। उस समय तिलांव के पास उसी रोड से 112 पीआरवी वाहन से पुलिस के लोग डोली खटोली को देखकर भी अनदेखा करते निकल गए।

फोटो सामने आई तो मचा हंगामा

खाट पर बीमार मरीज को अस्पताल ले जाने की फोटो सामने आने के बाद हंगामा मच गया। मामला तूल पकड़ा तो परिजनों के पास प्रशासन पहुंच गया। जिलाधिकारी प्रवीण लक्षकार का कहना है कि एंबुलेंस के लिए कोई फोन नही किया गया था। अब परिजन भी यही बात कह रहे कि कोई फोन नही किया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here