बच्ची को गूगल मैप के जरिए परिजनों से मिलवाया
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

चार दिन से लापता बच्ची को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) टीम ने गूगल मैप की सहायता से परिजनों से मिलवा दिया। बच्ची नोएडा के सेक्टर-12 अस्तित्व साईं कृपा शेल्टर होम में रह रही थी। परिजनों ने पुलिस का शुक्रिया अदा किया है।

पुलिस की तरफ से एएचटीयू के प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र सिंह होम जाकर वहां रह रहे बच्चों की काउंसलिंग कर रहे थे। इस दौरान एक बच्ची ने पूछताछ में अपना, परिजनों के नाम और गांव का नाम सलारपुर बताया। 

इसके बाद इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह ने कोतवाली सेक्टर-39 क्षेत्र के सलारपुर गांव में बच्ची के संबंध में सूचना भेजी और फोटो दिखाया, लेकिन वहां से कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद पुलिस ने एक बार फिर गूगल मैप से अवलोकन किया तो सलारपुर नामक एक गांव जारचा क्षेत्र में भी मिला। 

इसके बाद पुलिस ने अल्ट्रा टेक चौकी प्रभारी से सलारपुर गांव के पूर्व प्रधान से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि बच्ची उनके गांव की है। वह घर से लापता हो गई थी। कुछ देर के बाद बच्ची के मामा से फोन पर बात की गई तो पता चला कि बच्ची बिना बताए घर से निकल गई थी। 
बच्ची के परिजन नोएडा आए और बच्ची को साथ ले गए। एएचटीयू के प्रभारी निरीक्षक और उनकी टीम के सराहनीय प्रयास के बाद सोशल मीडिया और बच्ची के गांव के आसपास के लोग प्रशंसा कर रहे हैं। पिछले सप्ताह भी एएचटीयू की टीम ने साईं आश्रम शेल्टर होम में रह रहे एक बच्चे को संभल निवासी माता-पिता से मिलवाया था।

चार दिन से लापता बच्ची को एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) टीम ने गूगल मैप की सहायता से परिजनों से मिलवा दिया। बच्ची नोएडा के सेक्टर-12 अस्तित्व साईं कृपा शेल्टर होम में रह रही थी। परिजनों ने पुलिस का शुक्रिया अदा किया है।

पुलिस की तरफ से एएचटीयू के प्रभारी निरीक्षक देवेंद्र सिंह होम जाकर वहां रह रहे बच्चों की काउंसलिंग कर रहे थे। इस दौरान एक बच्ची ने पूछताछ में अपना, परिजनों के नाम और गांव का नाम सलारपुर बताया। 

इसके बाद इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह ने कोतवाली सेक्टर-39 क्षेत्र के सलारपुर गांव में बच्ची के संबंध में सूचना भेजी और फोटो दिखाया, लेकिन वहां से कोई जानकारी नहीं मिली। इसके बाद पुलिस ने एक बार फिर गूगल मैप से अवलोकन किया तो सलारपुर नामक एक गांव जारचा क्षेत्र में भी मिला। 

इसके बाद पुलिस ने अल्ट्रा टेक चौकी प्रभारी से सलारपुर गांव के पूर्व प्रधान से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि बच्ची उनके गांव की है। वह घर से लापता हो गई थी। कुछ देर के बाद बच्ची के मामा से फोन पर बात की गई तो पता चला कि बच्ची बिना बताए घर से निकल गई थी। 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here