ख़बर सुनें

कोरोना संक्रमण का दौर शुरू हुए एक साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। लेकिन अब भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो ठीक ढंग से मास्क नहीं पहन रहे। दरअसल शहर के 200 से ज्यादा लोगों पर यूपी पुलिस द्वारा किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है कि एक तिहाई लोग मास्क गलत तरीके से लगा रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि गलत तरीके से मास्क पहनने वालों की संख्या पॉश इलाकों और सामान्य इलाकों में लगभग बराबर है।

शहरियों की मास्क पहनने की आदत को लेकर शहर में कुल 11 जगहों पर सर्वे किया गया। इनमें से चार पॉश इलाके जबकि शेष आठ नॉन पॉश इलाके चुने गए। प्रत्येक जगह पर 20-20 लोगों पर सर्वे किया गया। इस तरह कुल 220 लोगों को सर्वे में शामिल किया गया। सर्वे मेें पाया गया कि कुल 73 यानी 33 फीसदी लोगों ने मास्क गलत तरीके से लगा रखा था। पॉश इलाकों की बात करें तो यहां 80 में से 27 जबकि सामान्य इलाकों में 140 मेें से 46 लोग गलत तरीके से मास्क पहने मिले। यानी पॉश इलाकों, जहां जागरूकता का स्तर ज्यादा माना जाता है, वहां भी गलत तरीके से मास्क लगाने वालों की संख्या कम नहीं। कुल 13 फीसदी लोग ऐसे मिले जिन्होंने मास्क नहीं लगा रखा था। ऐसे लोगों की कुल संख्या 38 रही।

इन जगहों पर किया गया सर्वे
पॉश इलाके- अशोक नगर (बाबा चौराहा), जार्जटाउन (प्रीति नर्सिंग होम के पास), सोहबतियाबाग चौराहा (दोनों डॉट पुल के बीच), टैगोर टाउन चौराहा।
सामान्य इलाके – अटाला चौराहा, करेली करामात की चौकी, मुट्ठीगंज चौराहा, सुलाकी चौराहा, बाघंबरी गद्दी चौराहा, गोविंदपुर सब्जी मंडी, कालिंदीपुरम सब्जीमंडी चौराहा (इन इलाकों में शाम पांच से सात बजे तक सर्वे किया गया)।
 

विस्तार

कोरोना संक्रमण का दौर शुरू हुए एक साल से ज्यादा का वक्त बीत चुका है। लेकिन अब भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो ठीक ढंग से मास्क नहीं पहन रहे। दरअसल शहर के 200 से ज्यादा लोगों पर यूपी पुलिस द्वारा किए गए सर्वे में यह बात सामने आई है कि एक तिहाई लोग मास्क गलत तरीके से लगा रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि गलत तरीके से मास्क पहनने वालों की संख्या पॉश इलाकों और सामान्य इलाकों में लगभग बराबर है।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here