Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लखनऊ4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
सम्मेलन में महिलाओं ने सांसद अनुप्रिया पटेल को तलवार भेंट की तो उन्होंने लहराकर मातृ शक्ति का एहसास कराया। - Dainik Bhaskar

सम्मेलन में महिलाओं ने सांसद अनुप्रिया पटेल को तलवार भेंट की तो उन्होंने लहराकर मातृ शक्ति का एहसास कराया।

  • महिला दिवस की पूर्व संध्या पर अपना दल (एस) ने संगठन मजबूत करने पर किया मंथन
  • सांसद अनुप्रिया पटेल ने कहा- त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2022 के लिए हम लोगों की आंख खोलने का काम करेगा

महिला दिवस की पूर्व संध्या पर रविवार को राजधानी लखनऊ में अपना दल (एस) का सम्मेलन आयोजित किया गया। जिसमें प्रदेश की कई महिला पदाधिकारियों ने पंचायत चुनाव को लेकर अपने विचार रखे। पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व मिर्जापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल ने कहा कि हम महिलाओं को कभी भी कमजोर नहीं समझना चाहिए। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हमारे लिए आंख खोलने वाला होगा कि आने वाले समय में हमारी ताकत क्या है? इसका असर 2022 के विधानसभा चुनाव के रिजल्ट में भी दिखेगा। NDA की सहयोगी दल होने के नाते पंचायत चुनाव से पूर्व पार्टी का जो भी फैसला होगा, वह संगठन के पदाधिकारियों को समय रहते बता भी दिया जाएगा।

हमारे संगठन को देखकर राजभर ने बनाया सुहेलदेव समाज पार्टी दल
मऊ जिले की रहने वाली सुरजावति राजभर ने सम्मेलन में कहा कि, एक समय पर ओमप्रकाश राजभर हमारी पार्टी के जिला अध्यक्ष हुआ करते थे। लेकिन मौजूदा समय में जातीय भूमिका और संगठन में बढ़ते हम लोगों के कदम को देखते हुए ओमप्रकाश ने एक अलग पार्टी बनाई। उन्होंने सुहेलदेव महाराज की फोटो लगाकर राजनीति करना शुरू कर दिया। ऐसे लोगों से भी हम लोगों को बचना चाहिए, जो सिर्फ स्वार्थ के लिए राजनीति कदम बढ़ा रहे हैं। कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान बुंदेलखंड के रहने वाले सुरेंद्र पाल वर्मा पूर्व मंत्री की बेटी शालिनी वर्मा ने पार्टी की सदस्यता ली।

वाराणसी में हुआ था पहला सम्मेलन

राष्ट्रीय अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने पार्टी के संगठन और पंचायत चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहला कार्यकर्ता सम्मेलन किया था। जिसके बाद प्रत्येक मंडल में या सम्मेलन किया जाना सुनिश्चित किया गया। प्रदेश के प्रवक्ता राजेश श्रीवास्तव ने बताया कि, इसके बाद संगठन की प्रत्येक मंडल में सम्मेलन किया जाएगा। इसके अलावा पंचायत चुनाव में पार्टी की भूमिका बना ली गई है। हर जिले में पार्टी जिला पंचायत सदस्य चुनाव जीतने में पूरा जोर लगाएगी।

पार्टी के नेता मानते हैं इससे आगामी विधानसभा में पार्टी को मजबूती मिलेगी। पार्टी विधानसभा चुनाव को लेकर यह प्लान कर रही है। जिला पंचायत सदस्य चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को आवेदन करने के लिए संगठन के लिए 40 सक्रिय सदस्य इसके बाद 25 सामान्य सदस्य बनाया जाए तब टिकट पर पार्टी विचार करेगी। पंचायत चुनाव में आरक्षण साफ होने के बाद अभी तक 500 से ज्यादा आवेदन आ चुके हैं।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here