डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (Crude oil) की कीमतों में बढ़ोतरी के चलते पेट्रोल-डीजल (Petrol- diesel) के दाम रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गए हैं। हालांकि बीते दिनों आई खबरों के अनुसार केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा टैक्स कटौती कर आमजन की जेब पर बढ़ते भार को कम किया जा सकता है। जिससे दोनों ईंधन के दाम 8 से 9 रुपए प्रति लीटर तक कम हो सकते हैं। 

वहीं दूसरी ओर दुनिया में कच्चे तेल के उत्पादक प्रमुख देशों के संगठन ने OPEC+ ने उत्पादन में की जा रही कटौती को अप्रैल महीने में भी जारी रखने का निर्णय लिया है। ऐसे में अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में उछाल आया है। माना जा रहा है कि यदि भारत में सरकार ने टैक्सेज में कटौती नहीं की तो इससे अगले दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में और इजाफा हो सकता है। फिलहाल जानते हैं आज के दाम…

8.5 रुपये सस्ता होगा पेट्रोल-डीजल !

पेट्रोल- डीजल की कीमत
भारतीय तेल विपणन कंपनियों (IOC, HPCL & BPCL) ने आज (05 मार्च, शुक्रवार) लगातार छठवें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में किसी तरह का बदलाव नहीं किया है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार देश की राजधानी दिल्ली सहित आर्थिक राजधानी मुंबई और महानगर कोलकाता व चैन्नई में पेट्रोल डीजल के दाम स्थिर बने हुए हैं। इनकी कीमत इस प्रकार हैं:-

महानगर

पेट्रोल      

डीजल

दिल्ली 

91.17 रुपए प्रति लीटर

81.47 रुपए प्रति लीटर

मुंबई

97.57 रुपए प्रति लीटर

88.60 रुपए प्रति लीटर

कोलकाता 

91.35 रुपए प्रति लीटर

84.35 रुपए प्रति लीटर

चैन्नई

93.11 रुपए प्रति लीटर

86.45 रुपए प्रति लीटर

ब्रिटेन की कोर्ट ने नीरव मोदी के प्रत्यर्पण का आदेश दिया

ऐसे तय होती है कीमत
विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर पर ऑयल मार्केटिंग कंपनियां (OMC) पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल (Indian Oil), भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (Hindustan Petroleum) हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक्साइज ड्यूटी, डीलर का कमीशन और अन्य चीजों को जोड़ने के बाद तेल का दाम दोगुना तक बढ़ जाता है। 

इसके अलावा बात करें राज्यों में अलग- अलग कीमतों की तो प्रत्येक राज्य पेट्रोल व डीजल पर अलग-अलग स्थानीय बिक्री कर अथवा मूल्य वर्धित कर (VAT) लगाते हैं। इस कारण उपभोक्ताओं के लिए राज्यों के हिसाब से डीजल और पेट्रोल की दरें बदल जाती हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here