इस संबोधन से महज एक दिन पहले जी-7 समिट को संबोधित किया था. (फाइल)

इस संबोधन से महज एक दिन पहले जी-7 समिट को संबोधित किया था. (फाइल)

PM Modi Dialogue at UN Live Updates: UNCCD द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार, इस बैठक में विश्व के नेता, मंत्री और सरकारी प्रतिनिधि, कृषि उद्योग के नेता, संयुक्त राष्ट्र संस्थानों के प्रतिनिधि, अंतर्राष्ट्रीय संगठनों और नागरिक समाज समूहों के साथ-साथ आम जनता के सदस्य शामिल हैं.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) संयुक्त राष्ट्र (United Nations) की हाई लेवल बैठक को संबोधित कर रहे हैं. पीएम मोदी का यह संबोधन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रहा है. संयुक्त राष्ट्र में पीएम मोदी का यह संबोधन जी-7 शिखर सम्मेलन में तीन सत्रों के संबोधन के महज एक दिन बाद हो रहा था. जी-7 में पीएम मोदी द्वारा उठाए गए मुद्दों की विश्व के सभी नेताओं ने सराहना की थी.

संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोज़किर ने भूमि क्षरण से लड़ने में हुई प्रगति का आंकलन करने और स्वस्थ भूमि को पुनर्जीवित करने और बहाल करने के वैश्विक प्रयासों पर आगे का रास्ता तय करने के लिए संयुक्त राष्ट्र कन्वेंशन टू कॉम्बैट डेजर्टिफिकेशन के समर्थन में ये बैठक बुलाई है.

पढ़िए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन का LIVE अपडेट

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा विकासशील देशों के लिए भूमि क्षरण एक विशेष चुनौती है. भारत साथी विकासशील देशों को भूमि बहाली रणनीति विकसित करने में सहायता कर रहा है. भूमि क्षरण के मुद्दों के प्रति वैज्ञानिक दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए भारत में एक उत्कृष्टता केंद्र स्थापित किया जा रहा है.- हम 2030 तक 26 मिलियन हेक्टेयर खराब भूमि को बहाल करने की दिशा में भी काम कर रहे हैं. यह 2.5 से 3 बिलियन टन CO2 समकक्ष के अतिरिक्त कार्बन सिंक को प्राप्त करने की भारत की प्रतिबद्धता में योगदान देगा.

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, भारत ने भूमि क्षरण, सूखे से निपटने के लिए नए तरीके अपनाए हैं.





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here