PM मोदी और जो बाइडेन कर सकते हैं वर्चुअल मुलाकात, ऑस्ट्रेलिया ने किया 'Quad मीटिंग' का इशारा

पीएम मोदी, जो बाइडेन के राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उनसे मिलेंगे. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन निकट भविष्य में वर्चुअल मुलाकात (PM Modi-Joe Biden Virtual Meet) कर सकते हैं. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने शुक्रवार को ‘Quad’ समूह के देशों के बीच एक बैठक को लेकर टिप्पणी की. इस समूह में US, भारत. जापान और ऑस्ट्रेलिया आते हैं.

यह भी पढ़ें

अगर यह मीटिंग होती है तो पीएम मोदी, जो बाइडेन से उनके राष्ट्रपति पद संभालने के बाद पहली बार मिलेंगे. जो बाइडेन ने जब नवबंर, 2020 में अगले अमेरिकी राष्ट्रपति का पद जीता था, तो उसके बाद पीएम मोदी ने उनसे फोन पर बात की थी. 

ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को घोषणा की कि इस मीटिंग में चारों देशों के राष्ट्राध्यक्ष उपस्थित रहेंगे और चीन के प्रभाव के खिलाफ लड़ने की अपनी रणनीतियों पर चर्चा करेंगे. हालांकि, प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से इसपर अभी तक कोई टिप्पणी नहीं आई है.

यह भी पढ़ें : भारतीय मूल के अमेरिकी छा रहे हैं अमेरिका पर : NASA बैठक में बोले राष्ट्रपति जो बाइडेन

Bloomberg की रिपोर्ट के मुताबिक, स्कॉट मॉरिसन ने कहा कि ‘यह ऐसी पहली मुलाकात होगी. मेरी पहले ही भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के प्रधानमंत्री योशिहीदे सुगा के साथ द्विपक्षीय बातचीत हुई है. और जाहिर हम इसपर आगे और चर्चा करना चाहते हैंं और आमने-सामने मिलना चाहते हैं.’ मॉरिसन ने इसपर कोई जानकारी नहीं दी कि यह बैठक कबतक होगी.

‘Quad’या Quadrilateral Security Dialogue एक अनौपचारिक रणनीतिक फोरम है, जिसके ये चारों देश सदस्य हैं. चीन का मुकाबला करने के लिए इस समूह में 2017 में फिर से जान फूंकी गई थी. चारों देशों के लिए यह समूह मायने है क्योंकि चारों देशों ने पिछले कुछ सालों में चीन के साथ किसी न किसी रूप में संघर्ष झेला है.

वहीं, अगर पीएम मोदी और राष्ट्रपति बाइडेन की बात करें को उनकी पहली बातचीत 8 फरवरी को फोन पर हुई थी. बाइडेन ने 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी. दोनों नेताओं ने क्लाइमेट चेंज, आतंकवाद और फ्रीडम ऑफ नेविगेशन जैसे मुद्दों पर करीब से सहयोग करने को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जताई थी. उन्होंने Quad के जरिए ‘मुक्त और खुले इंडो-पैसिफिक’ को बढ़ावा देने के लिए भी सहयोग पर चर्चा की.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here