[ad_1]

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ

Updated Tue, 20 Oct 2020 11:32 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण की दर में लगातार गिरावट आ रही है। अपर मुख्य सचिव, सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि यह समय और अधिक सावधान रहने का है। उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत देश के शहरी क्षेत्रों के रेहड़ी, पटरी, ठेले और खोमचे वालों को बैंकों से जोड़ा जा रहा है। मुख्यमंत्री इसकी लगातार समीक्षा कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री 27 अक्तूबर को यूपी में 5 लाख से अधिक ठेले, रेहड़ी वाले और खोखे-खोमचे वालों से संवाद करेंगे। प्रदेश के 651 नगर निकायों में करीब 3 लाख से अधिक इन छोटे दुकानदारों को ऋण वितरित करेंगे।

प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले प्रत्येक परिवार को आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश सरकार आयुष्मान भारत योजना से वंचित लगभग 2 करोड़ परिवारों को भी आयुष्मान भारत या मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ने के प्रयास कर रही है।

सहगल ने बताया कि प्रदेश में 4.35 लाख इकाइयों को आत्मनिर्भर पैकेज के तहत 10,727 करोड़ के ऋण मंजूर कर वितरित किए जा रहे हैं। चालू वित्त वर्ष में 14 मई से आज तक 5.74 लाख नई इकाइयों को 15,461 करोड़ का ऋण बांटा गया।

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के संक्रमण की दर में लगातार गिरावट आ रही है। अपर मुख्य सचिव, सूचना नवनीत सहगल ने कहा कि यह समय और अधिक सावधान रहने का है। उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत देश के शहरी क्षेत्रों के रेहड़ी, पटरी, ठेले और खोमचे वालों को बैंकों से जोड़ा जा रहा है। मुख्यमंत्री इसकी लगातार समीक्षा कर रहे हैं।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री 27 अक्तूबर को यूपी में 5 लाख से अधिक ठेले, रेहड़ी वाले और खोखे-खोमचे वालों से संवाद करेंगे। प्रदेश के 651 नगर निकायों में करीब 3 लाख से अधिक इन छोटे दुकानदारों को ऋण वितरित करेंगे।

प्रदेश में गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले प्रत्येक परिवार को आयुष्मान भारत और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश सरकार आयुष्मान भारत योजना से वंचित लगभग 2 करोड़ परिवारों को भी आयुष्मान भारत या मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से जोड़ने के प्रयास कर रही है।

सहगल ने बताया कि प्रदेश में 4.35 लाख इकाइयों को आत्मनिर्भर पैकेज के तहत 10,727 करोड़ के ऋण मंजूर कर वितरित किए जा रहे हैं। चालू वित्त वर्ष में 14 मई से आज तक 5.74 लाख नई इकाइयों को 15,461 करोड़ का ऋण बांटा गया।

[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here