अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Wed, 21 Apr 2021 12:55 AM IST

सार

  • फाफामऊ घाट पर घटना, सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल
prayagraj news : फाफामऊ घाट पर जलाए जा रहे शव।

prayagraj news : फाफामऊ घाट पर जलाए जा रहे शव।
– फोटो : prayagraj

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें

विस्तार

कोरेाना काल में एक ओर जहां पुलिस-प्रशासन के साथ ही आम लोग जरूरतमंदों की मदद को आगे आ रहे हैं। वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो आपदा के वक्त में मजबूरी का फायदा उठाने से भी नहीं चूक रहे हैं। ऐसा ही एक मामला मंगलवार को फाफामऊ घाट पर सामने आया, जहां कोविड संक्रमित के शव के अंतिम संस्कार के लिए 22 हजार रुपये मांगे जाने पर जमकर हंगामा हुआ। सूचना पर पुलिस पहुंची और किसी तरह मामला शांत कराया। घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। 

घटना मंगलवार दोपहर में हुई। कोविड संक्रमितों के शव के अंतिम संस्कार के दौरान हंगामा हो गया। वृद्धा का शव लेकर आए परिजनों ने आरोप लगाया कि उनसे अंतिम संस्कार के लिए 22 हजार रुपये मांगे गए। न देने पर पहले कहा गया कि खुद ही दाह संस्कार कर लो। जब परिजनों ने चिता में आग लगानी चाही तो दबंगई करते हुए उन्हें रोक दिया गया। साथ ही रुपये लेकर आने पर ही अंतिम संस्कार करने देने की बात की कही गई। इस पर वहां हंगामा होने लगा। जानकारी पर पुलिस पहुंची और किसी तरह मामला शांत कराकर अंतिम संस्कार कराया।

कुछ देर बाद घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो कई लोगों ने मामले की शिकायत पुलिस अफसरों से की।  फाफामऊ एसओ संतोष कुमार शुक्ला ने बताया कि जानकारी पर वह स्वयं मौके पर गए थे। यह सही है कि निर्धारित से ज्यादा रुपये मांगे गए, लेकिन 22 हजार रुपये मांगे जाने की बात गलत है। शवों की संख्या ज्यादा होने के कारण अंतिम संस्कार में देरी हो रही थी और इसी बात को लेकर परिजन आक्रोशित थे। उन्हें समझाकर मामला शांत करा दिया गया। 

अब तीन लोग कराएंगे दाह संस्कार, रेट भी तय

पुलिस ने बताया कि अंतिम संस्कार के लिए पहुंचने वाले शवों की संख्या बढ़ी है। जबकि दाह संस्कार एक ही व्यक्ति कर रहा है। जिससे देरी भी हो रही है कि और स्थिति हंगामेपूर्ण बन रही है। इसी को देखते  हुए प्रशासनिक अफसरों से वार्ता के बाद दो अन्य व्यक्तियों को घाट पर दाह संस्कार कराने के लिए लगाया गया है। इसके लिए रेट भी निर्धारित कर दिया गया है, जिसके मुताबिक अधिक्तम पांच हजार रुपये ही लिए जा सकते हैं। बुधवार को प्रशासनिक अफसर भी मौके पर जाकर निरीक्षण करेंगे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here