• Hindi News
  • Business
  • Salary Income Of Indian Workers In Gulf Remains Exempt From I T: Nirmala Sitharaman

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • सऊदी अरब, UAE, ओमान, कतर में काम कर रहे मेहनतकश भारतीयों पर कोई अतिरिक्त या नया टैक्स नहीं लगाया गया है
  • फाइनेंस एक्ट 2021 में संशोधन I-T एक्ट में ‘कर देयता’ को परिभाषित करने के मकसद से किया गया है ताकि कोई दुविधा न रहे

निर्मला सीतारमण ने कहा है कि NRI को खाड़ी देशों में सैलरी से होने वाली इनकम पर पहले की तरह भारत में टैक्स नहीं देना होगा। वित्त मंत्री ने यह बयान तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा के एक ट्वीट के जवाब में दिया है। उन्होंने कहा है कि फाइनेंस एक्ट 2021 में सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, कतर में काम रहे भारतीय वर्कर्स पर नया या अतिरिक्त टैक्स नहीं लगाया गया है।

I-T एक्ट में ‘कर देयता’ को परिभाषित करने के लिए फाइनेंस एक्ट 2021 में संशोधन

सीतारमण ने कहा है कि फाइनेंस एक्ट 2021 में संशोधन इनकम टैक्स एक्ट में ‘कर देयता’ को परिभाषित करने के मकसद से किया गया है ताकि कोई दुविधा न रहे। वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी ट्वीट के मुताबिक, ‘संशोधन से खाड़ी देशों में काम कर रहे NRI की सैलरी इनकम पर टैक्स की देनदारी में कोई बदलाव नहीं हुआ है। उन्हें खाड़ी देशों में सैलरी इनकम पर पहले की तरह भारत में इनकम टैक्स नहीं देना होगा।’

TMC सांसद ने किया था ट्वीट- खाड़ी देशों में काम कर रहे भारतीय वर्कर्स पर एक्स्ट्रा टैक्स

आज ही मोइत्रा ने फाइनेंस बिल 2021 में संशोधन की तस्वीर को ट्वीट करते हुए कहा था कि संशोधन में जिन जटिल शब्दों को शामिल किया गया है, वो असल में स्पेशल गल्फ वर्कर्स टैक्स है। वित्त मंत्री अपने वादे पर कायम नहीं रह पाई हैं। सऊदी, UAE, ओमान, कतर में काम कर रहे मेहनतकश भारतीय वर्कर्स पर एक्स्ट्रा टैक्स लगेगा।’

सीतारमण ने कहा, सच जाने बगैर सोशल मीडिया पर नतीजे निकालना चिंताजनक

वित्त मंत्रालय ने ट्वीट में कहा, ‘कोई वादा नहीं तोड़ा गया है। सऊदी अरब, UAE, ओमान, कतर में काम कर रहे मेहनतकश भारतीयों पर फाइनेंस एक्ट 2021 में कोई अतिरिक्त या नया टैक्स नहीं लगाया गया है।’ सीतारमण ने यह भी कहा है कि सच जाने बगैर नतीजे निकालना चिंताजनक है। मंत्रालय ने ट्वीट में लिखा है, ‘सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस तरह कोई नतीजा निकालने से न सिर्फ लोग गुमराह होते हैं बल्कि उनमें डर भी बैठता है।’

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here