नई दिल्ली: Salary on Weekends: अब आपको अपनी सैलरी के लिए शनिवार और रविवार यानी वीकेंड के गुजरने का इंतजार नहीं करना होगा, RBI ने National Automated Clearing House (NACH) के नियमों में बदलाव कर दिया है. NACH की सुविधाएं 1 अगस्त, 2021 से हफ्ते में सातों दिन मिलेगी. अभी सिर्फ इसकी सुविधाएं तभी मिलती हैं जब बैंक खुले होते हैं, आमतौर पर सोमवार से शुक्रवार के बीच ही NACH की सुविधाएं मिलती है. 

NACH की सुविधाएं अब पूरे हफ्ते

कई बार ऐसा होता है कि महीने की पहली तारीख वीकेंड पर पड़ जाती है, जिसकी वजह से सैलरीड क्लास को अपनी सैलरी अकाउंट में क्रेडिट होने के लिए सोमवार तक का इंतजार करना पड़ता है. RBI गवर्नर शक्तिकांता दास (RBI Governor Shaktikanta Das) ने आज क्रेडिट पॉलिसी रीव्यू के दौरान ऐलान किया कि ग्राहकों की सुविधाओं को और बढ़ाने के लिए और  24×7 मौजूद रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) का लाभ उठाने के लिए, NACH जो अभी बैंकों में कार्य दिवसों में उपलब्ध है, इसे हफ्ते के सभी दिनों लागू करने का प्रस्ताव दिया गया है, जो 1 अगस्त, 2021 से प्रभावी होगा. 

ये भी पढ़ें- RBI Credit Policy: RBI ने ब्याज दरों में छठी बार नहीं किया बदलाव, FY22 के लिए GDP अनुमान घटाकर 9.5%

सैलरी, पेंशन, EMI पेमेंट अब वीकेंड पर भी

NACH एक बल्क पेमेंट सिस्टम है जिसे नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेश ऑफ इंडिया (NPCI) संचालित करता है. जो कई तरह के क्रेडिट ट्रांसफर जैसे डिविडेंड, इंटरेस्ट, सैलरी और पेंशन की सुविधा देता है. इसके अलावा इलेक्ट्रिसिटी बिल का पेमेंट, गैस, टेलीफोन, पानी, लोन की EMI, म्यूचुअल फंड निवेश और इंश्योरेंस प्रीमियम के भुगतान की भी सुविधा देता है. मतलब अब आपको इन सारी सुविधाओं को हासिल करने के लिए सोमवार से शुक्रवार यानी Week Days का इंतजार नहीं करना पड़ेगा, ये काम Weekends में भी हो जाएंगे. 

RBI ने कहा कि NACH लाभार्थियों के लिए डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर (DBT) के एक लोकप्रिय और प्रमुख डिजिटल मोड के रूप में उभरा है, जो मौजूदा वक्त में COVID-19 के दौरान समय पर और पारदर्शी तरीके से सरकारी सब्सिडी के हस्तांतरण में मदद करता है. वर्तमान में, NACH की सेवाएं केवल उन्हीं दिनों मिलती हैं जब बैंक काम कर रहे होते हैं, लेकिन 1 अगस्त से यह सुविधा सप्ताह के सभी दिनों में उपलब्ध होगी.

ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं 

आपको बता दें कि Reserve Bank of India ने लगातार छठी बार ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. कोरोना महामारी की दूसरी लहर और महंगाई की हालत को देखते हुए RBI गवर्नर शक्तिकांता दास ने बाजार की उम्मीद के मुताबिक रेपो रेट (4%), रिवर्स रेपो रेट (3.35%) और कैश रिजर्व रेश्यो (CRR-4%) की दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. 

LIVE TV





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here