अमर उजाला नेटवर्क, प्रयागराज
Published by: विनोद सिंह
Updated Fri, 19 Mar 2021 12:59 AM IST

ख़बर सुनें

वाणिज्यकर विभाग की विशेष अनुसंधान शाखा (एसआईबी) टीम ने दो स्थानों पर छापा मारा। इस दौरान विभागीय टीम ने कर चोरी के आरोप में एक सीमेंट और सरिया व्यापारी के यहां जहां 200 टन सरिया सीज किया तो वहीं दूसरी कोयले की एक फर्म में संचालक बिक्री के अनुपात में कर बहुत कम पाने पर उसके यहां रखे तमाम कागजी दस्तावेज सीज कर लिए। दोनों ही फर्म पर की गई कार्रवाई के बाद विभागीय टीम ने 25 से 30 लाख रुपये की कर चोरी होने का अनुमान लगाया है।

विभागीय टीम को जानकारी मिली थी कि करेली और धाता फतेहपुर में स्थित क्रमश: कोयले और सीमेंट-लोहे की फर्म संचालक द्वारा कर चोरी की जा रही है। जानकारी मिलने के बाद दोनों ही स्थानों पर टीम डिप्टी कमिश्नर हेमंत गौतम और मुकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में पर मौके पर पहुंची। घाता में सात टीमों द्वारा हुई कार्रवाई के दौरान 200 टन सरिया, एक हजार बोरी सीमेंट सीज किया गया। यहां एक दुकान और चार गोदाम पर एसआईबी और स्थानीय मोबाइल टीम द्वारा कार्रवाई की गई। कार्रवाई में वाणिज्यकर विभाग की ओर से महिला अफसर को भी शामिल किया गया।

डीसी हेमंत गौतम ने बताया कि यहां तकरीबन 30 लाख रुपये की कर चोरी का मामला सामने आया है। वहां कागजी दस्तावेज भी सीज किए गए। उधर, करेली स्थित कोयले की फर्म में एसआईबी टीम ने वहां बीते कई वर्ष के स्टॉक चेक किए। यहां तकरीबन पांच करोड़ रुपये का टर्न ओवर फर्म संचालक का पाया गया। विभागीय टीम ने यहां जांच के दौरान पाया कि फर्म संचालक द्वारा काफी माल बिना टैक्स दिए बगैर ही बेच दिया गया। डीसी मुकेश कुमार ने बताया कि यहां करीब 25 से 30 लाख रुपये की कर चोरी होने का अनुमान है। इस दौरान कार्रवाई में असिस्टेंट कमिश्नर जितेंद्र कुमार, प्रियंका पांडेय, डा. अवध कुमार, लल्लन यादव आदि मौजूद रहे।

वाणिज्यकर विभाग की विशेष अनुसंधान शाखा (एसआईबी) टीम ने दो स्थानों पर छापा मारा। इस दौरान विभागीय टीम ने कर चोरी के आरोप में एक सीमेंट और सरिया व्यापारी के यहां जहां 200 टन सरिया सीज किया तो वहीं दूसरी कोयले की एक फर्म में संचालक बिक्री के अनुपात में कर बहुत कम पाने पर उसके यहां रखे तमाम कागजी दस्तावेज सीज कर लिए। दोनों ही फर्म पर की गई कार्रवाई के बाद विभागीय टीम ने 25 से 30 लाख रुपये की कर चोरी होने का अनुमान लगाया है।

विभागीय टीम को जानकारी मिली थी कि करेली और धाता फतेहपुर में स्थित क्रमश: कोयले और सीमेंट-लोहे की फर्म संचालक द्वारा कर चोरी की जा रही है। जानकारी मिलने के बाद दोनों ही स्थानों पर टीम डिप्टी कमिश्नर हेमंत गौतम और मुकेश कुमार सिंह के नेतृत्व में पर मौके पर पहुंची। घाता में सात टीमों द्वारा हुई कार्रवाई के दौरान 200 टन सरिया, एक हजार बोरी सीमेंट सीज किया गया। यहां एक दुकान और चार गोदाम पर एसआईबी और स्थानीय मोबाइल टीम द्वारा कार्रवाई की गई। कार्रवाई में वाणिज्यकर विभाग की ओर से महिला अफसर को भी शामिल किया गया।

डीसी हेमंत गौतम ने बताया कि यहां तकरीबन 30 लाख रुपये की कर चोरी का मामला सामने आया है। वहां कागजी दस्तावेज भी सीज किए गए। उधर, करेली स्थित कोयले की फर्म में एसआईबी टीम ने वहां बीते कई वर्ष के स्टॉक चेक किए। यहां तकरीबन पांच करोड़ रुपये का टर्न ओवर फर्म संचालक का पाया गया। विभागीय टीम ने यहां जांच के दौरान पाया कि फर्म संचालक द्वारा काफी माल बिना टैक्स दिए बगैर ही बेच दिया गया। डीसी मुकेश कुमार ने बताया कि यहां करीब 25 से 30 लाख रुपये की कर चोरी होने का अनुमान है। इस दौरान कार्रवाई में असिस्टेंट कमिश्नर जितेंद्र कुमार, प्रियंका पांडेय, डा. अवध कुमार, लल्लन यादव आदि मौजूद रहे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here