Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नोएडा5 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
आज नोएडा में भूखंड के कब्जा हस्तांतरण पत्र का परस्पर आदान प्रदान किया गया। - Dainik Bhaskar

आज नोएडा में भूखंड के कब्जा हस्तांतरण पत्र का परस्पर आदान प्रदान किया गया।

  • नोएडा के सेक्टर-51 में किया जाएगा शॉपिंग मॉल का निर्माण
  • मॉल के अलावा ऑफिस, होटल और रिटेल आउटलेट भी बनेंगे

उत्तर प्रदेश में रोजगार सृजन की दिशा में योगी सरकार ने शुक्रवार को एक बड़ा कदम बढ़ाया है। मल्टीनेशनल स्वीडिश कंपनी आइकिया (IKEA) से MoU साइन किया गया है। यह कंपनी नोएडा में 5500 करोड़ रुपए के निवेश के लिए 850 करोड़ की जमीन की खरीदी की है। केवल जमीन की बिक्री की स्टांप ड्यूटी से ही प्रदेश को 56 करोड़ का राजस्व मिला है। यह कंपनी फर्नीचर और होम अप्लायेंस बनाने वाली दुनिया की बड़ी कंपनियों में से एक है। नोएडा में IKEA भारत का सबसे बड़ा आउटलेट शुरू करने जा रही है।

शुक्रवार को कंपनी के साथ वर्चुअल MoU हस्ताक्षर कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, औद्योगिक एवं अवस्थापना विकास मंत्री सतीश महाना लखनऊ से शामिल हुए। इस मौके पर नोएडा प्राधिकरण और इंगका सेंटर्स प्रालि के मध्य पट्टा प्रलेख पत्र (लीज डीड) एवं भूखंड के कब्जा हस्तांतरण पत्र का परस्पर आदान प्रदान किया गया। इस प्रोजेक्ट को सात साल की अवधि में पूरा करना होगा। इससे करीब एक हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

2025 तक पूरा हो जाएगा निर्माण

नोएडा में शॉपिंग सेंटर बनाने को लेकर सरकार और आइकिया के बीच करीब 2 साल से बातचीत चल रही थी लेकिन इसको अंतिम रूप देने में दो साल से अधिक का समय लग गया है। आइकिया के अधिकारियों का कहना है कि 2025 तक इस शॉपिंग सेंटर का निर्माण पूरा हो जाएगा। यानी 2025 से नोएडा और आसपास के लोग आइकिया के स्टोर से खरीदारी कर सकेंगे। इस शॉपिंग सेंटर के निर्माण से करीब 1 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

पूरी दुनिया में कंपनी के 45 मॉल

आइकिया के पूरी दुनिया में करीब 45 शॉपिंग मॉल हैं। यह शॉपिंग मॉल यूरोप, रूस और चीन में स्थित हैं। अब कंपनी 2021 में अमेरिका में प्रवेश की योजना बना रही है। कंपनी का कहना है कि कोविड-19 प्रतिबंधों के बाद अक्टूबर से ही ग्राहक उसके स्टोर और मॉल्स में आने शुरू हो गए हैं।

2017 से अब तक 12 हजार 931 करोड़ का हुआ निवेश
2017 के के बाद से अब तक 1095 औद्योगिक, वाणिज्यिक, संस्थागत भूखंडों का आवंटन किया गया। जिससे लगभग 12,931 करोड़ का निवेश होगा। 15,040 रोजगार सृजन की संभावना है। प्राधिकरण के सभी श्रेणी की परिसम्पत्तियों के संबंध में आवेदन ऑनलाइन प्राप्त करने की सुविधा मई 2020 से जारी है। निवेश संबंधी प्रक्रिया को सुगम बनाने के लिए प्राधिकरण की सेवाओं को निवेशमित्र पोर्टल के साथ इंटिग्रेट कर अब तक 10 हजार से अधिक आवेदनों का निस्तारण किया जा चुका है।
इंवेस्टर सम्मिट से 4 हजार करोड़ का निवेश
इनवेस्टर सम्मिट और ग्राउंड ब्रेकिग सेरेमनी के दौरान वाणिज्यिक, औद्योगिक एवं संस्थागत क्षेत्रों से संबंधित लगभग 20 से अधिक निवेशकों ने समझौता पत्रों पर हस्ताक्षर किए। जिससे लगभग 4000 करोड़ के निवेश का मार्ग प्रशस्त हुआ। ऐसे सभी निवेशकों को सुविधा प्रदान करने तथा उनकी समस्याओं का प्रभावी अनुश्रवण करने के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई, जिससे क्षेत्र में निवेश को प्रोत्साहन दिया जा सके।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here