नई दिल्ली. भारत में अब तक कोविड-19 से बचाव के लिए टीके की 20.86 करोड़ खुराक दी जा चुकी है. यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को दी. मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार को 18 से 44 आयुवर्ग के 13,36,309 लाभर्थियों को टीके की पहली खुराक जबकि इसी आयुवर्ग के 275 लोगों को दूसरी खुराक दी गई.

मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक टीकाकरण के तीसरे चरण में 18 से 44 साल आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण शुरू होने के बाद से अबतक इस आयुवर्ग के 1,66,47,122 लोगों का टीकाकरण हुआ है.

18 से 44 साल के 10 लाख लोगों का हुआ टीकाकरण

आंकड़ों के मुताबिक, बिहार, गुजरात, मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश ऐसे राज्य हैं जिन्होंने 18 से 44 आयुवर्ग में 10 लाख से अधिक लाभार्थियों का टीकाकरण कर दिया है. मंत्रालय ने बताया कि शुक्रवार शाम सात बजे तक प्राप्त वैकल्पिक आंकड़ों के मुताबिक देश में अबतक टीके की 20,86,12,834 खुराक दी जा चुकी है.इतने स्वास्थ्य कर्मियों को गी गई वैक्सीन की खुराक

आंकड़ों के मुताबिक इनमें 98,44,619 स्वास्थ्य कर्मी और 1,54,41,200 अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कार्यकर्ता हैं जिन्हें पहली खुराक दी गई है जबकि 67,58,839 स्वास्थ्य कर्मी और 84,47,103 अग्रिम मोर्चे पर कार्यरत कर्मी हैं जिन्हें टीके की दोनों खुराक दी जा चुकी है.

इसे भी पढ़ें :- कोरोना वायरस की दूसरी लहर में डीआरडीओ ने यूं की देश की मदद

वहीं, 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग में 1,66,47,122 लाभार्थियों को पहली और 275 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी जा चुकी है. इनके अलावा 45 से 60 साल आयुवर्ग के 6,44,71,232 लाभार्थियों को टीके की पहली और 1,03,37,925 लाभार्थियों को टीके की दूसरी खुराक दी गई है.

मंत्रालय ने बताया कि 5,81,23,297 वरिष्ठ नागरिकों को पहली खुराक जबकि 1,85,41,222 वरिष्ठ नागरिकों को कोविड-19 से बचने के लिए दूसरी खुराक दी गई है. मंत्रालय ने वैकल्पिक आंकड़ों के हवाले से बताया कि टीकाकरण अभियान के 133वें दिन 28,07,411 लोगों का टीकाकरण किया गया जिनमें से 25,99,754 लाभार्थियों को पहली खुराक जबकि 2,07,657 लाभार्थियों को दूसरी खुराक दी गई. अंतिम आंकड़े देर रात आएंगे.

=====================================================

==================================================================

पाकिस्तान सरकार को सिखों की सुरक्षा निश्चित सु​रक्षित करनी चाहिए : एसजीपीसी ( 4 AM)

============================================================================

=========================================================================

मुंबई में कोरोना के एक हजार से भी कम मामले, कोविड की दूसरी लहर में पहली बार इतने कम केस

-read-covid19-updates-1262848-2021-05-28

Covid-19: मुंबई में थम रही है कोरोना की रफ्तार, आज दर्ज किए गए एक हजार से भी कम केस

मुंबई. देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना वायरस के मामले रिकॉर्ड (Mumbai Coronavirus Case updates) निचले स्तर पर आ गए हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 929 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि इस दौरान 1239 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए. पिछले 24 घंटों के दौरान मुंबई में 30 मरीजों की मौत हुई है.

आंकड़ों के अनुसार, मुंबई में कोरोना के एक्टिव मामलों की संख्या 27,958 रह गई है जबकि कोरोना से कुल रिकवरी 6,58,540 तक पहुंच गई है. कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 7,03,461 है.

महाराष्ट्र में भी घट रहे हैं कोरोना संक्रमण के मामले

महाराष्ट्र में कोरोना के आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले 24 घंटे में 20,740 नए मामले सामने आए हैं. इसके अलावा 31, 671 लोग ठीक होकर घर को लौट गए. अभी तक 53,07,874 मरीज ठीक होकर अस्पताल से जा चुके हैं. ऐसे में महाराष्ट्र का रिकवरी रेट 93.24 फीसदी पहुंच गया है. वहीं पिछले 24 घंटे में 424 लोगों की कोरोना से मौत हो गयी. राज्य में अभी 2,89,088 एक्टिव केस हैं.

भारत की बात करें तो देश में शुक्रवार यानी 28 मई की सुबह तक पिछले 24 घंटे में 1,86,364 नए मामले दर्ज हुए हैं और इस दौरान 3,660 लोगों की मौत हुई है.

Vineet KumarMob 9818300779vineet.kumar@nw18.comTwitter- VineetJ01

मोदी सरकार के 7 साल पूरा होने पर बीजेपी विभिन्न गतिविधियों का करेगी आयोजन बंगाल के लिए विशेष तैयारी

मोदी सरकार के केंद्र में 7 पूरे होने पर बीजेपी गांव में करेगी कार्यक्रम, बंगाल के लिए बनाया स्पेशल प्लान

नई दिल्ली. केंद्र की सत्ता में नरेंद्र मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर बीजेपी किसी बड़े कार्यक्रम का आयोजन नहीं कर रही है. हालांकि राज्यों में पार्टी द्वारा विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया है. पार्टी की ओर से कहा गया है कि 30 मई को एक लाख से अधिक गांवों में विभिन्न प्रकार की सेवा गतिविधियां आयोजित की जाएंगी. इस दौरान केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कोरोना नियमों का पालन हो इसका विशेष ध्यान रखा जाएगा.

इसके साथ ही बीजेपी के सभी मोर्चा मिलकर 28, 29 और 30 मई को लगभग 50 हजार कार्यकर्ताओं द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा. इन दोनों गतिविधियों को करने के लिए प्रदेश की सेवा ही संगठन टोली को मजबूत किया जा रहा है. इस तरह की ही टोली जिला और मंडल स्तर पर भी बनाई जाएगी. इस कार्यक्रम के तहत प्रत्येक गांव की सूची तैयार की जाएगी जहां पर 30 मई को गतिविधियां आयोजित होनी है और उसकी तैयारी के प्रभार हेतु एक प्रभारी बनाया जाएगा.

कार्यक्रम के लिए सांसदों, विधायकों को दिए गए निर्देश

इस कार्यक्रम हेतु सभी सांसदों, विधायकों और पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वह कम से कम 2 कार्यक्रमों में सक्रिय रूप से भाग ले. कार्यक्रम के दौरान सभी लोगों को कोडिव प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन करवाया जाएगा. इसके अलावा मुख्यमंत्रियों एवं मंत्रियों सहित केंद्र और राज्य के सभी वरिष्ठ नेता वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा चयनित गांवों को संबोधित भी करेंगे. इन गतिविधियों के अंतर्गत सामाजिक जागरूकता फैलाना मास्क, सैनेटाइजर का वितरण, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु किट का वितरण, राशन कार्ड का वितरण, थर्मल स्कैनर और ऑक्सीमीटर के माध्यम से सभी गांव की स्क्रीनिंग, गांव में स्वच्छता हेतु जागरूकता और वैक्सीन लगाने के बारे में भी जागरूकता फैलाने वाले कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. इन गतिविधियों हेतु यह सुनिश्चित किया गया है कि प्रत्येक गांव में एक या दो गतिविधियों का आयोजन जरूर हो .

बंगाल के लिए खास व्यवस्थाएं

भारतीय जनता पार्टी बंगाल में प्रमुख विपक्षी पार्टी के रूप में उधर ही है इसलिए बंगाल को इन गतिविधियों के लिए खास तवज्जों दी जा रही है. इस हेतु यह योजना बनाई गई है कि जिला स्तर के लगभग 300 से 400 प्रतिभागियों का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कराया जाए, जिसमें 40 मिनट के संबोधन के अलावा 20 मिनट सवाल जवाब के लिए भी रखा जाएगा. 12 और 3 जून को होने वाली इस गतिविधि में चुनाव उपरांत हुए हिंसा के संबंध में विचार विमर्श किया जाएगा.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here