2.7 C
New York
Wednesday, February 8, 2023

Buy now

spot_img

UP: दोस्त की हत्या कर उसकी बीवी को साथ रखा, अब उसे भी मौत के घाट उतारा, आरोपी की बातें सुन पुलिस भी हैरान

इटावा जिले में महिला की हत्या के मामले में पुलिस ने खुलासा कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की बातें सुनकर पुलिस भी हैरान रह गई।
 

विस्तार

इटावा जिले के कौआ गांव में नाग देवता मंदिर के पास मिले महिला के शव की शिनाख्त हो गई है। प्रेमी ने गोली मारकर महिला की हत्या कर शव फेंक दिया था। आरोपी को पुलिस ने तमंचा समेत गिरफ्तार कर लिया है। एसएसपी जय प्रकाश सिंह ने पुलिस लाइन में पत्रकारों को बताया कि हत्या की जांच के लिए क्राइम ब्रांच सहित पुलिस की दो टीमें लगाई थीं। फोरेंसिक टीम को घटना स्थल पर एक ट्रैवल एजेंसी की पर्ची मिली थी।

यह नोएडा के कटियार ट्रैवल की थी। पुलिस टीम ने ट्रैवल संचालक से पूछताछ की तो पता चला की वह तीन साल पहले यह पर्ची बंद कर चुका है। ट्रैवल एजेंसी में इटावा का एक व्यक्ति काम करता था। लाकडाउन में उसने काम छोड़ दिया था। पुलिस ट्रैवल एजेंसी संचालक से उसका पता लेकर इटावा आई। पुलिस ने रम्पुरा निवासी सतीश चंद्र यादव को हिरासत में लिया।

उसने बताया कि मृतका राजस्थान के झुंझुनूं जनपद के पचेरी थाना क्षेत्र के पचेरी खुर्द छोटी निवासी मिथलेश है। पिछले कई वर्ष से उसके मिथलेश से अवैध संबंध थे। वह मृतका को अपने साथ दिल्ली में रखता था। उसकी पत्नी गांव में रहती थी। इसी बीच मिथलेश के अवैध संबंध एक बंगाली लड़के से हो गए। आरोपी की पत्नी को भी पति के अवैध संबंध की जानकारी हुई तो दोनों के बीच विवाद होने लगा। इस पर सतीश चंद्र यादव ने मिथलेश की गोली मारकर हत्या कर दी। उसके शव को नाग देवता मंदिर के पास फेंक दिया।

पूजा करने के बहाने लाया था  
सतीश ने बताया कि मिथलेश को नोएडा से पूजा करने के बहाने नाग देवता मंदिर ऊसराहार लेकर आया था। महिला के साथ उसके दो बच्चे भी थे। नोएडा से आते ही रात में वह पूजा करने के लिए महिला को मंदिर ले गया। इस दौरान दोनों बच्चे कार में ही सो रहे थे। पूजा करने के बाद दोनों कार के पास आए तो पीछे से उसके सिर में गोली मार दी थी।

पति की भी कर चुका था हत्या
सतीश ने बताया कि मिथलेश के पति गजेंद्र से उसकी दोस्ती थी। उसने गजेंद्र को कार चलाना सिखाया था। उसे उधार पैसे देकर कार भी दिलाई थी। इसके बाद गजेंद्र के घर आना-जाना हो गया। इस दौरान उसके मिथलेश के साथ अवैध संबंध हो गए। दो वर्ष पूर्व गजेंद्र को रास्ते से हटाने के लिए इटावा लेकर आया और अपने एक साथी के साथ मिलकर उसे दारू पिलाई। सैफई हवाई पट्टी के पास नशे की हालत में उसे कार में बैठाकर नहर में कार को धक्का दे दिया था। इससे उसकी मौत हो गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पानी में डूबने से मौत का कारण बताया गया था। मृतक के परिजनों ने भी उस समय कोई तहरीर नहीं दी थी। इस कारण पुलिस ने भी मामला दर्ज नहीं किया था।

पचेरी थाने में दर्ज है गुमशुदगी
मिथलेश के परिजनों ने 10 अगस्त 2021 में पचेरी थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसके बाद से पुलिस ने की खोजबीन की थी, लेकिन उसका कुछ पता नही चला था। वहीं पति की मौत के बाद मृतका नोएडा में आरोपी सतीश के साथ रहने लगी थी।

कार में सो रहे थे बच्चे
एसएसपी ने बताया कि मिथलेश की हत्या के समय उसके बच्चे कार में ही सो रहे थे। आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद बच्चों को कार से लेकर गांव चला गया था। मृतका के दोनों बच्चों को कौन रखेगा, इसके लिए मृतक के भाई और ससुर के बीच बातचीत चल रही है। दोनों की रजामंदी के बाद लिखित रूप से बच्चों को उन्हें सौंप दिया जाएगा।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,706FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles