यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो)

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने किसानों को क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए बड़ी पहल की है.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने किसानों को क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए बड़ी पहल की है. सीएम योगी ने राज्य में प्रधानमंत्री किसान योजना (PM Kisan Yojana) के सभी लाभार्थियों को 15 अप्रैल तक अभियान चलाकर किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) देने के निर्देश दिए हैं.

छोटी जोत वाले किसानों को भी मिलेगा क्रेडिट कार्ड
रविवार को जारी सरकारी बयान के अनुसार, मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रधानमंत्री किसान योजना के छोटी जोत वाले किसानों के भी क्रेडिट कार्ड बनाए जाने के निर्देश दिए हैं. बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री किसान योजना के सभी लाभार्थियों को कोरोना संकट के चलते किसान क्रेडिट कार्ड नहीं दिया जा सका, जिसका संज्ञान लेते हुए अब गांव-गांव में अभियान चलाकर किसानों का क्रेडिट कार्ड बनाया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- LPG Gas Subsidy Status: क्या आपके अकाउंट में आ रही है गैस सब्सिडी, ऐसे आसानी से करें पताइस संबंध में अपर मुख्य सचिव (कृषि) ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी और उप निदेशक कृषि को पत्र जारी किए हैं, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री किसान योजना के सभी लाभार्थियों का कृषि विभाग के कर्मचारी द्वारा शत प्रतिशत सत्यापन कराते हुए सभी इच्छुक लाभार्थियों का किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के निर्देश दिए हैं.

क्या है किसान क्रेडिट कार्ड
केंद्र सरकार किसानों के लिए कई स्कीम चला रही है. इनमें एक शानदार स्कीम किसान क्रेडिट कार्ड है, जिसमें खेती के काम के लिए सस्ती ब्‍याज दर पर कर्ज मुहैया कराया जाता है. स्‍कीम के तहत कोई भी किसान नजदीकी बैंक शाखा पहुंचकर बहुत आसानी से किसान क्रेडिट कार्ड बनवा सकता है.

आवेदन के 15 दिन के भीतर मिल जाएगा किसान क्रेडिट कार्ड
सरकार ने किसानों की परेशानी को समझते हुए केसीसी आवेदन के लिए बहुत ही सरल फॉर्म जारी किया है. इसे भरने के बाद उन्‍हें महज 15 दिन में अपना किसान क्रेडिट कार्ड मिल जाएगा. बता दें कि केसीसी के तहत 3 लाख रुपये तक का कर्ज सिर्फ 7 फीसदी ब्याज पर मिलता है. यही नहीं, समय पर पैसा लौटाने वाले किसानों को 3 फीसदी की छूट भी मिलती है. दूसरे शब्‍दों में कहें तो समय पर कर्ज लौटाने वाले किसानों को महज 4 फीसदी ब्याज दर पर ही रकम मिल रही है.








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here