Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रयागराज7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
परिवार की हालत खतरे से बाहर है। - Dainik Bhaskar

परिवार की हालत खतरे से बाहर है।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में मंगलवार की शाम एक महिला अपने चार बच्चों के साथ यमुना पुल से नदी में छलांग लगा दिया। लेकिन पुलिस के नीचे मौजूद गोताखोरों ने अपनी जान जोखिम में डालकर पांचों को सही सलामत बचा लिया। महिला मध्य प्रदेश के रीवा शहर की रहने वाली है। वह पति की प्रताड़ना से परेशान थी। पति उन्हें खाना नहीं देता था। मारता-पीटता था। पुलिस वालों ने उसे अस्पताल में भर्ती करवाया है। पूछताछ के बाद परिजनों को सूचित किया गया है।

रोडवेज बस से प्रयागराज पहुंचा था परिवार
मध्य प्रदेश के रीवा शहर की रहने वाली रोहिणी तिवारी (48 साल) पत्नी राम लक्ष्मण तिवारी अपने एक बेटे अंश व तीन बेटियों रुपाली, श्रेया और मनाली के साथ मंगलवार की शाम 5:30 बजे के करीब प्रयागराज के नए पुल पर पहुंची। पहले एक-एक करके चारों बच्चों को यमुना नदी में छलांग लगवाई और फिर खुद छलांग लगा दी। नीचे मौजूद गोताखोरों ने रोहिणी देवी और उसके चारों बच्चों को बचा लिया। तत्काल उन्हें पास के ही प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए जहां डॉक्टर ने उनको एसआरएन हास्पिटल रेफर कर दिया। पांचों लोग खतरे के बाहर बताएं जा रहे है।

पुलिस ने पति को थाने बुलाया

पुलिस के अनुसार आत्महत्या करने की वजह पारिवारिक कलह बताई जा रही है। पुलिस के अनुसार महिला महिला का कहना है कि उसका पति उसे और उसके बच्चों को प्रताड़ित करता है रोज मारता पीटता है। खाने को नहीं देता। जिससे आहत होकर वह आज रोडवेज बस से यहां पहुंचे और खुदकुशी करने के लिए नए पुल से छलांग लगा दिया। उनके घरवालों को बुलाया गया है पूछताछ के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं…



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here